Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा : दोबारा जारी होगा आर्ट एंड क्राफ्ट शिक्षक भर्ती का परिणाम, पहले चयनित 613 टीचर हो सकते हैं बाहर

आर्ट एंड क्राफ्ट शिक्षकों की भर्ती में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से डिप्लोमा या डिग्री करने वाले उम्मीदवारों के चयन को रद करने संबंधी याचिका पर हरियाणा के मौलिक शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक ने हाईकोर्ट में हलफनामा दायर किया है।

HPSC Recruitment 2021: सिविल जज के 256 पदों के लिए आवेदन प्रक्रिया फिर से हुई शुरू, ऐसे करें अप्लाई
X
एचपीएससी 

हरियाणा सरकार ने कर्मचारी चयन आयोग को आर्ट एंड क्राफ्ट शिक्षकों की भर्ती का परिणाम संशोधित कर जारी करने के लिए कहा है। यदि ऐसा होता है तो चयनित 613 टीचर भर्ती से बाहर हो सकते हैं। यह वे शिक्षक हैं, जिन्होंने आर्ट एंड क्राफ्ट का डिप्लोमा या डिग्री कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से ले रखी है। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की कमेटी ने हालांकि इस डिग्री या डिप्लोमा को सही मानते हुए नौकरी के लिए पात्र माना था, लेकिन इस बारे में अभी सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया है, जिस कारण 613 आर्ट एंड क्राफ्ट के शिक्षकों की नौकरी जाना तय है।

आर्ट एंड क्राफ्ट शिक्षकों की भर्ती में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से डिप्लोमा या डिग्री करने वाले उम्मीदवारों के चयन को रद करने संबंधी याचिका पर हरियाणा के मौलिक शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक ने हाईकोर्ट में हलफनामा दायर किया है। उन्होंने कोर्ट को बताया कि कर्मचारी चयन आयोग ने उनके पास चयनित उम्मीदवारों की सूची भेजी थी, जिसमें 613 उम्मीदवार ऐसे हैं, जिन्होंने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से डिप्लोमा या डिग्री कर रखी है।

ऐसे ही प्रतीक्षा सूची में शामिल 54 उम्मीदवारों ने भी कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से डिप्लोमा किया हुआ है। आयोग ने छह दिसंबर को कर्मचारी चयन आयोग को पत्र लिख कर कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से डिप्लोमा व डिग्री के बारे में 24 नवंबर के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत परिणाम संशोधित करने का आग्रह किया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र के आर्ट एंड क्राफ्ट के डिप्लोमा को इस भर्ती के लिए अमान्य करार दिया था।

मौलिक शिक्षा विभाग ने यह जवाब हाईकोर्ट के नोटिस पर जारी किया था। हाईकोर्ट ने यह नोटिस सोनीपत निवासी मनोज कुमार व अन्य द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए जारी किया था। याचिका में हाई कोर्ट को बताया गया कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने 14 नवंबर को 816 आर्ट एंड क्राफ्ट टीचर्स की भर्ती का परिणाम घोषित किया था। इस भर्ती के लिए परिणाम के दौरान साफ लिखा गया था कि जिन उम्मीदवारों ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र से आर्ट एंड क्राफ्ट का डिप्लोमा किया है, उनका चयन इस डिप्लोमा को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले निर्भर करेगी।

याचिका के अनुसार 24 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र से आर्ट एंड क्राफ्ट का डिप्लोमा करने वालों को अमान्य करार दिया। याची ने इसी फैसले के आधार पर कर्मचारी चयन आयोग को आर्ट एंड क्राफ्ट टीचर्स भर्ती का परिणाम संशोधित कर नए सिरे से जारी करने की मांग की है, क्योंकि काफी संख्या में ऐसे उम्मीदवारों का चयन हो गया था, जिन्होंने कुरुक्षेत्र से डिस्टेंस एजुकेशन (दूरवर्ती शिक्षा) के माध्यम से आर्ट एंड क्राफ्ट का डिप्लोमा किया था। उनकी योग्यता रद होने के बाद मेरिट के अनुसार नए उम्मीदवारों का चयन करने की भी मांग की गई है।

और पढ़ें
Next Story