Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वाहनों के रजिस्ट्रेशन में फर्जीवाड़ा, चार डाटा ऑपरेटरों के खिलाफ मामला दर्ज

गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन के रिकार्ड की डिटेल कंप्यूटर में चेक की गई। जिसमें पाया गया कि दो फाइलों की रसीद कटने के बाद उनकी आरसी जारी की हुई है। मगर उन फाइलों की काफी तलाश की गई जो कार्यालय में नहीं मिली।

वाहनों के रजिस्ट्रेशन में फर्जीवाड़ा, चार डाटा ऑपरेटरों के खिलाफ मामला दर्ज
X

हरिभूमि न्यूज : यमुनानगर

जगाधरी एसडीएम कार्यालय में वाहनों के रजिस्ट्रेशन में बड़े फर्जीवाड़े का मामला प्रकाश में आया है। एसडीएम की शिकायत पर पुलिस ने चार डाटा एंट्री ऑपरेटरों के खिलाफ धोखाधड़ी समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक जगाधरी के एसडीएम दर्शन सिंह ने पुलिस अधीक्षक कमलदीप गोयल को दी शिकायत में बताया कि उनके कार्यालय के कर्मचारी राजेंद्र सिंह और संजीव सैनी ने उन्हें बताया कि सीआईए सिरसा की टीम ने वहां दर्ज एफआईआर नंबर 25 में गाड़ी नंबर एचआर-02 समेत कुछ अन्य गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन का रिकार्ड मांगा गया था। जिसमें उक्त गाड़ियों का रिकार्ड नहीं मिला। इसके बाद उक्त टीम द्वारा मांगी गई गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन के रिकार्ड की डिटेल कंप्यूटर में चेक की गई। जिसमें पाया गया कि दो फाइलों की रसीद कटने के बाद उनकी आरसी जारी की हुई है। मगर उन फाइलों की काफी तलाश की गई जो कार्यालय में नहीं मिली।

खास बात यह रही कि जांच के दौरान पता चला कि काफी वाहनों के रजिस्ट्रेशन की फाइलें ऐसी मिली जिन्हें क्लर्क ने मार्क ही नहीं किया हुआ था। लेकिन उनकी डाटा एंट्री ऑपरेटर द्वारा फीस काटकर आरसी जारी की हुई थी। शिकायत में कहा गया है कि ऐसी फाइलों की संख्या 15-16 के करीब है। जांच में पाया गया कि इन फाइलों में चेसिस व इंजन नंबर तक बदले गए हैं। खास बात तो यह है कि इन फाइलों पर नोटिंग मोहर और एमआरसी के हस्ताक्षर नहीं हैं। इसके अलावा भी मामले में अन्य वाहनों की फाइलों में भी फर्जीवाड़ा पाया गया है। पुलिस ने एसडीएम की शिकायत पर आरोपित चार डाटा ऑपरेटरों अमित कुमार, कुनाल, गगनदीप व शुभम के खिलाफ धोखाधड़ी समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। आरोपित अभी फरार हैं।

सिरका पुलिस के रिकार्ड मांगने पर हुआ फर्जी वाड़े का खुलासा : सिरसा पुलिस की सीआईए की टीम द्वारा एसडीएम जगाधरी कार्यालय से कुछ वाहनों के रजिस्ट्रेशन का रिकार्ड मांगे जाने के बाद फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहल सिरसा में कुछ गाड़ियां पकड़ी गई थी। जिनका रजिस्ट्रेशन जगाधरी एसडीएम कार्यालय से हुआ है। इन्ही गाड़ियों का रिकार्ड लेने के लिए सिरसा पुलिस जगाधरी एसडीएम कार्यालय में पहुंची थी।

मामले में होगी कड़ी कार्रवाई : पुलिस अधीक्षक कमलदीप गोयल ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। जांच की जा रही है। जांच पूरी होने के बाद कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Next Story