Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नौकरी से पहले पंजीकरण : 60 हजार का लॉगिन, छह हजार ने भरी फीस

आने वाले दिनों में यह इसकी गति और तेज होने की उम्मीद है। युवा बेरोजगारों द्वारा कराए जा रहे पंजीकऱण को लेकर हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन स्टाफ भी उत्साहित है, क्योंकि एक क्लिक पर अब आवेदक का ब्योरा सामने होगा।

नौकरी से पहले पंजीकरण : 60 हजार का लॉगिन, छह हजार ने भरी फीस
X

मुख्यमंत्री मनोहर लाल

चंडीगढ़। सरकारी नौकरियों के लिए सूबे की मनोहर सरकार द्वारा पोर्टल पर पंजीकरण कराने की शुरुआत हो गई है। प्रदेशभर के विभिन्न हिस्सों से लगभग 60 हजार ने इस पोर्टल पर लागिन किया है, इसी क्रम में छह हजार ने पंजीकरण की फीस भी भर दी है।

आने वाले दिनों में यह इसकी गति और तेज होने की उम्मीद है। युवा बेरोजगारों द्वारा कराए जा रहे पंजीकऱण को लेकर हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन स्टाफ भी उत्साहित है, क्योंकि एक क्लिक पर अब आवेदक का ब्योरा सामने होगा। इतना ही नहीं आवेदन करने वाले को भी बार-बार अपने दस्तावेज अपलोड करने और जानकारी भरने, कईं बार फीस भरने की मुसीबत से छुटकारा मिलने जा रहा है।

यहां पर उल्लेखनीय है कि हरिभूमि ने इस संबंध में पहले भी युवाओं को सूचना दी थी। जिसके तहत एक बार अपना पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य है। इस क्रम में अभी तक राज्य के विभिन्न जिलों से 60 हजार ने लागिन किया है। इसके अलावा छह हजार युवाओं ने अपना ब्योरा अपलोड कर फीस भी जमा करा दी है।

इस बाबत पूछे जाने पर एचएसएससी चेयरमैन भारत भूषण भारती ने पुष्टि करते हुए कहा कि इस दिशा में बेहतर परिणाम सामने आ रहे हैं। रोजाना ही इसमें आवेदक लागिन करने के साथ साथ भविष्य के लिए पंजीकरण करा रहे हैं, इसके बाद वे कामन एंट्रेस टैस्ट में बैठ जाएंगे।

यहां पर यह भी उल्लेखनीय है कि अब से पहले सभी विभागों में ग्रुप डी (अर्थात क्लास चार) के खाली पदों की डिमांड लेने के बाद एक ही बार में कामन परीक्षा हुई थी। बाद में युवाओं को विभिन्न विभागों में भेजा था। अब डी के बाद में ग्रुप सी क्लास तीन के लिए राज्य सरकार के सभी विभागों से डिमांड लेकर वेकेंसी निकालने की तैयारी में है।

नौकरियों के लिए आवेदन करने वालों को इस पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा। पोर्टल पर परीक्षार्थी को दस्तावेज अपलोड करने होंगे, इसमें आर्थिक, सामाजिक, एजूकेशन सभी तरह के कागजात हैं, इनका वैरिफिकेशन भी आयोग पहले ही करा लिया करेगा। जिसके बाद में आवेदक करने वालों को एक यूनिक आईडी अलाट करने की योजना है।

Next Story