Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राकेश टिकैत ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोले-भीड़ जुटने से कानून ही नहीं सरकारें भी बदल जाती हैं

राकेश टिकैत ने मंच से किसानों को आह्वान किया कि सभी किसान ट्रैक्टरों के साथ तैयार रहें, क्योंकि कभी भी दिल्ली में घुसने का बुलावा आ सकता है। इस बार किसान 40 लाख ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली में प्रवेश करेंगे।

राकेश टिकैत ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोले-भीड़ जुटने से कानून ही नहीं सरकारें भी बदल जाती हैं
X

महापंचायत में मंच पर बैठे राकेश टिकैत, गुरनाम सिंह चढूनी व अन्य नेता।

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर दिल्ली बॉर्डर पर तीन महीने से चल किसान आंदोलन को मजबूती देने के लिए सोमवार को खरखौदा में किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। जिसमें किसान नेता राकेश टिकैत ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सरकार के मंत्री कहते हैं कि भीड़ जुटने से कानून नहीं बदलते, तो सरकार व सभी मंत्रियों को भली-भांति समझ लेना चाहिए कि भीड़ जुटने से कानून ही नहीं, सरकारें भी बदल जाया करती है। इसलिए सरकार अपने दिमाग से यह भ्रम निकाल दें।

राकेश टिकैत ने मंच से किसानों को आह्वान किया कि सभी किसान ट्रैक्टरों के साथ तैयार रहें, क्योंकि कभी भी दिल्ली में घुसने का बुलावा आ सकता है। उन्होंने कहा कि इस बार किसान 40 लाख ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली में प्रवेश करेगा। इस बार हल क्रांति होगी, जिसके लिए किसान खेतों में प्रयोग होने वाले सभी औजारों के साथ दिल्ली में प्रवेश करेंगे। सरकार को चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि अभी तो यहां के नौजवानों ने केवल इतना ही कहा है कि कानून वापस ले लो, लेकिन तब क्या होगा जब युवा सत्ता वापस मांग लेंगे। हरियाणा के लोगों ने किसान मोर्चा के 40 सदस्यों पर विश्वास जताया है। यहां की खाप पंचायतों ने अपना समर्थन दिया है। टिकैत ने साफ तौर कहा कि अब किसान केवल खेतों में काम ही नहीं करेगें, बल्कि दिल्ली की पॉलीसीज पर ध्यान भी रखेगा। उन्होंने कहा कि अब मामला केवल 3 कृषि कानूनों का नहीं है। बिजली, सीड बिल जैसे अनेक बिल आने वाले हैं, जो किसानों को बर्बाद कर देंगे। इसलिए इन सबका विरोध किया जाएगा।

सरकार का षडयंत्र थी लाल किले की घटना

राकेश टिकैत ने कहा कि लाल किले की घटना सरकार का षडयंत्र थी। एक बालक को बहकाकर लाल किले पर ले जाकर बैठा दिया। इस प्रकार के षड़यंत्र से किसान कमजोर नहीं होने वाले। टिकैत ने किसानों को भी नसीहत दी कि अभी अपनी फसलों को बर्बाद नहीं करना है। सरकारों को यह भी समझना होगा कि यदि किसान अपनी फसल बर्बाद कर सकता है तो वह कुछ भी सकता है। टिकैत ने युवाओं को कहा कि जोश बनाए रखना होगा। किसानों की 40 जत्थेबंदियों के प्रमुख देश के हर गांव में जाएंगे और ट्रैक्टरों के साथ किसानों को तैयार करेंगे। उनका 40 लाख ट्रैक्टर तैयार करने का लक्ष्य है।


Next Story