Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नशे का इंतजाम करने के लिए चुरा रहे थे रेलवे की पटरी, तीन पकड़े

चार युवक उठाकर ट्रैक्टर-ट्राली में लोड कर रहे थे। इसी दौरान गश्त खत्म कर आरपीएफ की टीम वापस लौट रही थी। आरपीएफ टीम ने इन युवकों को चोरी करते हुए पकड़ लिया। इसी दौरान अंधेरे का फायदा उठाकर एक युवक भाग निकला।

नशे का इंतजाम करने के लिए चुरा रहे थे रेलवे की पटरी, तीन पकड़े
X

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

नशे करने के लिये पैसों का इंतजाम करने में जुटे तीन युवक रेलवे लाइन चोरी करते पकड़े गए। भारी-भरकम लोहे की रेलवे लाइन रेलवे गोदाम में रखी हुई थी। जिन्हें अलसुबह चार युवक उठाकर ट्रैक्टर-ट्राली में लोड कर रहे थे। इसी दौरान गश्त खत्म कर आरपीएफ की टीम वापस लौट रही थी। आरपीएफ टीम ने इन युवकों को चोरी करते हुए पकड़ लिया। इसी दौरान अंधेरे का फायदा उठाकर एक युवक भाग निकला, लेकिन तीन युवक आरपीएफ ने पकड़ लिये। उनके कब्जे से ट्रैक्टर-ट्राली और उसमें लादी गई रेल पटरी बरामद कर ली है। तीनों आरोपितों को अदालत में पेश किया गया, जहां से इन्हें न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। वहीं फरार हुए चौथे आरोपित की तलाश अभी जारी है।

जानकारी अनुसार आरपीएफ सोनीपत की टीम शनिवार सुबह करीब चार बजे गश्त से लौट रही थी। इस दौरान उन्होंने देखा कि रेल गोदाम के पास एक ट्रैक्टर-ट्राली खड़े हुए हैं। वहां पर चार युवक थे। वह गोदाम के पास रखी हुए रेल की पटरी को उठाकर ट्राली में लाद रहे थे। वह रेल की चार पटरियों को लाद चुके थे और पांचवी को उठा रहे थे। वह रेलवे के कर्मचारी नहीं थे। आरपीएफ के एसआइ दलबीर सिंह ने बताया कि उन्होंने युवकों से उनका परिचय जानना चाहा। आरपीएफ कर्मियों को देखकर वह चारों वहां से भाग निकले। इस पर घेराबंदी कर टीम के सदस्यों ने उनमें से तीन को दबोच लिया, जबकि एक अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग निकला।

आरपीएफ टीम को आरोपितों ने अपनी पहचान पुगथला निवासी अरमान, समालखा निवासी विकास, रोहतक के गांव आसन निवासी साजिद के तौर पर दी। प्रारंभिक पूछताछ में उन्होंने बताया कि वे ट्रैक्टर-ट्राली लेकर रेल की पटरी चोरी करने के लिए आए थे। वहीं फरार हुआ युवक सोनीपत का रहने वाला सोनू है। आरपीएफ ने ट्रैक्टर-ट्राली और रेलवे की लाइन को अपने कब्जे में ले लिया है। तीनों आरोपितों ने न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उनको न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

पहले भी की है चोरी, नशे के आदी

आरपीएफ की जांच में सामने आया है कि वह पहले भी रेलवे के सामान की चोरी करते रहे हैं। बताया गया है कि ये नशे के आदी हैं और अपने नशे की लत को पूरा करने के लिये ही इस तरह की चोरियां करते आए हैं। इनका सीधा सा प्लान होता था कि चोरी कर सामान को औने-पौने दाम में बेच देते थे और जो पैसे मिलते थे, उससे नशा करने के लिये सामान खरीदते थे।

रेल की लाइन चोरी कर ट्रैक्टर-ट्राली में लाद रहे तीन आरोपितों को टीम ने दबोच लिया है। इनका एक साथी फरार है। उसकी तलाश में पुलिस टीम लगाई गई है। आरोपितों ने बताया कि वह नशा करने के लिए चोरी करते थे। वह पहले भी रेलवे की संपत्ति चोरी कर चुके हैं। चोरी किए गए सामान की बिक्री इनका फरार साथी सोनू करता था। - युद्धवीर सिंह, एसएचओ, थाना आरपीएफ सोनीपत

Next Story