Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अग्निपथ योजना के खिलाफ पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने भरी हुंकार, 27 जून को रोहतक में करेंगे विरोध-प्रदर्शन

हुड्डा ने कहा, सीएम मनोहर लाल ने सभी अग्निवीरों को नौकरी देने का दावा किया है जो केवल जुमला है। अगर सरकार सभी अग्निवीरों को नौकरी दे सकती है तो पहले अग्निपथ योजना में चयनित युवाओं को हरियाणा में पक्की नौकरी दे और बाद में चाहे चार साल के लिए अग्निपथ योजना के तहत भेज दे। ताकि युवाओं का भविष्य भी सुरक्षित रहेगा।

अग्निपथ योजना के खिलाफ पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने भरी हुंकार,  27 जून को रोहतक में करेंगे विरोध-प्रदर्शन
X

रोहतक में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा साथ में विधायक बीवी बतरा व शकुंतला खटक। 

रोहतक में 27 जून को कांग्रेस का अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन होगा। जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा खुद मौजूद रहेंगे। उनके साथ कांग्रेसी नेता व कार्यकर्ता भी शामिल होंगे। कांग्रेस अग्निपथ सहित अन्य मुद्दों को लेकर 27 को प्रदेश के विभिन्न जिलों में प्रदर्शन करेंगी। इसको लेकर पूर्व मूख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने पत्रकार वार्ता की। जिसमें उन्होंने कहा कि सीएम मनोहर लाल ने सभी अग्निवीरों को नौकरी देने का दावा किया है जो केवल जुमला है। अगर सरकार सभी अग्निवीरों को नौकरी दे सकती है तो पहले अग्निपथ योजना में चयनित युवाओं को हरियाणा में पक्की नौकरी दे और बाद में चाहे चार साल के लिए अग्निपथ योजना के तहत भेज दे। ताकि युवाओं का भविष्य भी सुरक्षित रहेगा।

भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा कि अग्निपथ योजना युवाओं के लिए हानिकारक है। चार साल के लिए युवाओं को सेना में लिया जाएगा। जबकि छह माह की ट्रेनिंग और करीब छह माह युवा छुट्‌टी पर रहेंगे। ऐसे में दो साल की नौकरी होते ही अंतिम वर्ष युवाओं को भविष्य की चिंता सताने लगेगी। युवाओं के सामने आगे के रोजगार को लेकर चिंता होगी। वहीं देश की सुरक्षा के लिए भी यह खतरनाक है। इस योजना के लागू होने से दो तरह की सेना हो जाएगी। एक को नियमित व एक चार साल वाली। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने ईजराइल का उदाहरण दिया था, जिस पर पूर्व सीएम ने कहा कि ईजराइल में सभी के पास रोजगार है और कोई भी सेना में नहीं जाना चाहता। लेकिन भारत में उल्टा है, जहां हर कोई सेना में देशभक्ति के जज्बे के साथ जाने की इच्छा रखता है।

भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा कि भारतीय सेना की विश्व में अपनी धाक है। लेकिन सरकार सेना को ही अग्निपथ योजना से खत्म करना चाहती है। दूसरे विश्व युद्ध के बाद कहा जाने लगा था कि भारत की सेना हो और जर्मनी के हथियार तो किसी भी लड़ाई को आसानी से जीता जा सकता है। ऐसी सेना को किसी भी सूरत में कमजोर नहीं होने दिया जाएगा।पूर्व सीएम ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल सभी अग्निवीरों को पक्का रोजगार देने की बात कर रहे हैं। जबकि प्रदेश 29 हजार से अधिक पू्र्व सैनिक हैं, जिनमें से केवल 543 को ही नौकरी मिली है। जिससे साफ है कि मात्र 1.8 प्रतिशत को ही नौकरी मिली है। जबकि अग्निवीर को 75 प्रतिशत वापस आएंगे, उन्हें कैसे नौकरी दी जाएगी।

भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा कि सरकार टैक्स पर टैक्स लगा रही है, जिसके कारण कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है। आने वाले दिनों में तो यह स्थिति आने वाली है कि जीने पर भी टैक्स, मरने पर भी टैक्स, सांस लेने पर भी टैक्स, सोने व उठने पर टैक्स लगाएगी। सरकार ने पीने के पानी की कीमत 500 प्रतिशत बढ़ा रही है। लोगों को पीने तक का पानी नहीं मिल रहा। कांग्रेस सरकार ने गरीब लोगों को 3 लाख 80 हजार 100-100 गज के प्लाट दिए थे, लेकिन भाजपा ने एक व्यक्ति को भी प्लाट नहीं दिया।

सरकारी भवनों को बाहर शिफ्ट करने का होगा विरोध

सरकारी भवनों को बाहर शिफ्ट करने को लेकर भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि वे आमजन की सुविधा के लिए इसका विरोध कर रहे हैं। ताकि लोग आसानी से सरकारी कार्यालयों में पहुंच सके। सभी भवनों को बाहर शिफ्ट करने का कारण भी किसी विशेष को लाभ पहुंचाना है। 27 जून को लोगों की राय पूछी जाएगी, उस समय सरकार को पता लग जाएगा।

और पढ़ें
Next Story