Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलिस की सतर्कता से अपनों से मिला आर्यन : बवानी खेड़ा से अपहृत बच्चे को 25 घंटे में ढूंढ निकाला, आरोपियों ने बदल दिए थे कपड़े

पुलिस की कार्यवाही देख गिरफ्तारी होने के डर से आरोपी बच्चे को हांसी के सेक्टर में छोड़कर फरार हो गए। बच्चे की तलाश में पुलिस की आठ टीमें लगी थी।

पुलिस की सतर्कता से अपनों से मिला आर्यन : बवानी खेड़ा से अपहृत बच्चे को 25 घंटे में ढूंढ निकाला, आरोपियों ने बदल दिए थे कपड़े
X

परिजनों की गाेद में बच्चा जिसका अपहरण हुआ था।

हरिभूमि न्यूज : बवानी खेड़ा ( भिवानी)

बवानी खेड़ा बस स्टैंड से मासूम बच्चे के गायब होने के 25 घंटे बाद पुलिस की कार्यवाही देख गिरफ्तारी होने के डर से आरोपी बच्चे को हांसी के सेक्टर में छोड़कर फरार हो गए। कस्बावासियों की सूचना पर पुलिस ने बच्चे आर्यन को बरामद कर शाम 6 बजे परिजनों को सौंप दिया। जैसे ही बच्चा परिजनों के पास आया उस समय दादी सहित परिवार के सभी सदस्यों की आंखों में खुशी के आंसू झलक रहे थे तो हर कोई पुलिस को आशीर्वाद व लंबी उम्र की दुआएं दे रहा था।

गौरतलब है कि मंगलवार पौने तीन बजे भिवानी जाटान निवासी बुजुर्ग महिला सुंदर देवी से एक अज्ञात महिला चीज दिलाने के बहाने अन्य युवकों के साथ गाड़ी में बच्चे को हांसी में लेकर फरार हो गई थी। जिसके बाद भिवानी के एसपी अजीत सिंह शेखावत के दिशानिर्देश पर डीएसपी विरेन्द्र सिंह की अगुवाई में सीआईए-वन, सीआईए-टू, बवानी खेड़ा पुलिस, साइबर सहित गुप्तचर विभाग की आठ टीमाें ने बवानी खेड़ा कस्बा सहित हांसी के दर्जनभर सीसीटीवी खंगालने शुरू किए।

कैमरे की फुटेज देख रात को हो गया था क्लियर गाड़ी हांसी में नहीं गई बाहर

डीएसपी विरेन्द्र सिंह ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखने से रात 8 बजे तक पुलिस को यह क्लियर हो गया था कि गाड़ी हांसी में ही इंट्री हुई है जिसके बाद सीआईए वन इंचार्ज योगेश कुमार, सीआईए टू इंचार्ज श्रीभगवान यादव, बवानी खेड़ा थाना प्रभारी रविन्द्र कुमार, साइबर सैल एएसआई रमेश कुमार, गुप्तचर विभाग सहित हांसी पुलिस ने एक घंटे के अंदर हांसी से निकलने वाले सभी रास्तों को नाकेबंदी कर सीसीटीवी फुटेज देखकर क्लियर कर दिया था कि गाड़ी हांसी से बाहर नहीं गई है। रात दो बजे तक पुलिस की टीम शहर के सभी जगह की सीसीटीवी फुटेज की जांच में जुटी हुई थी।

पुलिस को था डर, बच्चे के साथ न हो जाए अनहोनी

पुलिस ने बताया कि उन्हें डर था कि अपहरणकर्ता पैसों के लिए नहीं कहीं किसी और उद्देश्य से बच्चे का अपहरण करके तो नहीं कर ले गए हैं। जिसको लेकर पुलिस ने भिवानी, हांसी, तोशाम सहित सब जगह डेरों में भी छापेमारी की कि कहीं तांत्रिक घटना बच्चे के साथ अनहोनी न कर दे। रात पुलिस की कई टीमें आसपास डेरो में भी छापेमारी करती रही।

चार बजे तक 150 से अधिक कैमरों की हो चुकी थी जांच

पिछले 25 घंटों में पुलिस की टीम भिवानी से लेकर हांसी रोड सहित हांसी शहर के 150 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों की जांच कर चुकी थी कि आरोपियों की कार कहां से लेकर कहां तक गई होगी। ऐसी कार्यवाही की भनक पाते ही आरोपियों ने आर्यन को सेक्टर में छोड़कर फरार हो गए।

बदल गए थे कपड़े भी

बच्चे को जब बरामद किया गया तो बच्चे के तन पर नए कपड़े थे। पुराने कपड़े आरोपियों द्वारा बदलकर नए कपड़े की खरीदारी करके डलवाए गए थे। बातों बातों में पुलिस ने बच्चे से पूछा कि कहीं उसके साथ मारपीट तो नहीं की जिस पर बच्चे ने जवाब दिया कि उसके साथ कोई भी मारपीट नहीं की गई।

जल्द गिरफ्तार हाेंगे आरोपी

हम हर एंगल से जांच कर रहे हैं, सीसीटीवी फुटेज में हमारे पास कुछ ऐसे सुराग भी लगे हैं जिससे हम आरोपियों को जल्द ही गिरफ्ताकर लेंगे। -विरेन्द्र सिंह, डीएसपी हैड क्र्वाटर भिवानी

Next Story