Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

समाजसेवा करने के इच्छुक लोगों के लिए सरकारी स्तर पर मिलेगा प्लेटफार्म

मुख्यमंत्री मनोहर ने कहा कि समाज में ऐसे बहुत से लोग हैं जो समाज के लिए स्वेच्छा से काम करना चाहते हैं और उन्हें इसके बदले में किसी चीज की चाह या आवश्यकता नहीं है। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि ऐसे लोगों के लिए वॉलिंटियर सेवा देने हेतु प्लेटफार्म तैयार करने की सभी आवश्यक औपचारिकताएं जल्द से जल्द से पूरी करें।

समाजसेवा करने के इच्छुक लोगों के लिए सरकारी स्तर पर मिलेगा प्लेटफार्म
X

समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए सीएम मनोहर लाल। 

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि निस्वार्थ भाव से समाजसेवा करने के इच्छुक लोगों के लिए सरकारी स्तर पर प्लेटफार्म प्रदान किया जाएगा ताकि उनका सहयोग लेकर व्यवस्थाओं में और सुधार लाया जा सके। मुख्यमंत्री आज यहां इस संबंध में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज में ऐसे बहुत से लोग हैं जो समाज के लिए स्वेच्छा से काम करना चाहते हैं और उन्हें इसके बदले में किसी चीज की चाह या आवश्यकता नहीं है। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि ऐसे लोगों के लिए वॉलिंटियर सेवा देने हेतू प्लेटफार्म तैयार करने की सभी आवश्यक औपचारिकताएँ जल्द से जल्द से पूरी करें। उन्होंने कहा कि समाज के बहुत से ऐसे सेवानिवृत व्यक्ति हैं जो समाज के लिए कुछ करना चाहते हैं, इनके अनुभवों का लाभ उठाते हुए कार्य योजना तैयार की जानी बेहद आवश्यक है। इससे न केवल समाज का भला होगा बल्कि इन अनुभवी लोगों को भी आत्मसंतुष्टि होगी।

मुख्यमंत्री ने इजराइल के येरूशलम का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां पर 5 हजार से अधिक लोग एम्बुबाइक सेवा से जुड़े हुए हैं। ये सभी किसी भी समय आपात सेवाएं देने के लिए तैयार रहते हैं। जैसे ही इनके मोबाइल में बजता है तो ये तत्काल दुर्घटना स्थल पर एम्बुबाइक लेकर पहुंच जाते हैं और घायलों की मदद करते हैं। उसमें उन्हें प्राथमिक उपचार देना एवं अस्पताल पहुंचना आदि शामिल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में समर्पण भाव से सेवा करने वाले लोगों के लिए इसी प्रकार से मंच प्रदान करना अति आवश्यक है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस संबंध में जल्द से जल्द आवश्यक योजना का खाका तैयार करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दुर्गा शक्ति ऐप एवं डायल 112 सुविधाएं भी हालांकि आपात स्थिति में सहयोग के लिए हैं लेकिन समाज का एक बहुत बड़ा वर्ग ऐसा है जो सरकारी सेवा में नहीं है और वह समाज को सेवा देना चाहता है। उन्होंने कहा कि लोगों में यह भाव जगना चाहिए कि मैं समाज को क्या दूंगा ।

बैठक में विदेश सहयोग विभाग के प्रधान सचिव एवं रिसोर्स मोबलाइजेशन सलाहकार योगेन्द्र चौधरी ने विस्तार से इस प्रोजैक्ट के बारे में जानकारी दी और बताया कि कोविड महामारी के दौरान सेवा के लिए आगे आते हुए प्रदेश के 89680 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था।

Next Story