Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रेम विवाह से नाराज लोगों ने दामाद के घर में घुसकर की तोड़फोड़ और मारपीट

घटना के बाद पीड़ित परिवारों ने जाम लगा दिया। आरोप है कि बाद में पुलिस की मौजूदगी में आरोपी पक्ष के तीन घरों में भी तोड़फोड़ की गई। पुलिस ने प्रेम विवाह करने वाली युवती के बयान पर उसके मायके वालों व 100 अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है।

प्रेम विवाह से नाराज लोगों ने दामाद के घर में घुसकर की तोड़फोड़ और मारपीट
X

वारदात के बाद घायल युवक अपनी चोट के निशान दिखाते हुए।

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

शहर के ककरोई रोड स्थित श्याम नगर में बेटी के प्रेम विवाह से नाराज एक पक्ष के लोगों ने रविवार दोपहर युवक के परिवार वालों के पांच घरों पर पथराव व तोड़फोड़ कर दी। इतना ही नहीं तीन राउंड फायरिंग भी की गई। आरोप है कि युवती के मायके वालों संग करीब 100 लोगों ने आधे घंटे तक जमकर उत्पात मचाया। घटना के बाद पीड़ित परिवारों ने जाम लगा दिया। आरोप है कि बाद में पुलिस की मौजूदगी में आरोपी पक्ष के तीन घरों में भी तोड़फोड़ की गई। पुलिस ने प्रेम विवाह करने वाली युवती के बयान पर उसके मायके वालों व 100 अन्य के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

करोई रोड स्थित श्याम नगर की रहने वाली वर्षा ने करीब एक वर्ष पहले ककरोई रोड निवासी साजन के साथ प्रेम विवाह किया था। इससे वर्षा का पिता रणबीर व अन्य परिजन मुकेश, दलराज व अन्य नाराज थे। वर्षा व साजन घर से भागकर रोहतक में रहे थे। बाद में मामला शांत हो गया और वर्षा अपनी ससुराल ककरोई रोड पर साजन और उसके माता-पिता के साथ रहने लगी। शनिवार को साजन के मामा के लड़के उनके घर शादी का कार्ड देने आए थे। आरोप है कि इसकी सूचना मिलने पर रणबीर पक्ष के लोगों ने उनके साथ मारपीट कर दी, जिसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने मामले में दोनों पक्षों को रविवार को चौकी में बुलाया था। पुलिस को दी शिकायत में वर्षा ने बताया कि इसी रंजिश के चलते रविवार को उसके पिता, चाचा, भाई अन्य लडकों व रिश्तेदारों के साथ आकर पहले सन्नी व उसके परिजनों के घर पर हमला कर तोड़-फोड़ कर दिया। आरोप है कि इस दौरान उन्होंने तीन राउंड हवाई फायरिंग भी की। उकने साथ करीब 100 अन्य लोग थे। इसके बाद लोगों ने उसके घर व पति के मीट शॉप पर हमला करते हुए जमकर तोड़-फोड़ कर दी। हमलावरों ने एसी, फ्रिज, बिजली के मीटर, खिड़कियों के शीशे आदि तोड़ दिए। घरों और गली में ईंट-पत्थर बिखरे पड़े थे। करीब आधे घंटे तक उन्होंने जमकर बवाल काटा। हमले में संजय, साजन, अभिषेक और मनोज घायल हो गए हैं। इनको अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दूसरी तरफ इससे नाराज लोगों ने ककरोई रोड पर जाम लगा दिया और धरने पर बैठ गए। लोगों ने सेक्टर-23 पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। सूचना मिलने पर जब पुलिस ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो लोग भडक उठे और उन्होंने आरोपियों के घरों पर हमला बोल दिया। वहां भी पथराव और डंडों से तोडफोड़ की गई। पुलिस व कालोनी के अन्य लोगों की मदद से मामला शांत कराया गया। पुलिस ने फिलहाल वर्षा के बयान पर उसके मायके वालों के साथ ही 100 अन्य लोगों पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

ननंद के अपहरण का किया प्रयास

वर्षा ने आरोप लगाया कि हमलावरों ने उसकी ननद के अपहरण का प्रयास किया। वह उसे जबरन उठाकर ले जाने का प्रयास कर रहे थे। वर्षा का आरोप है कि उसके साथ भी मारपीट की गई। उसके मासूम बेटे लक्ष पर भी हमला किया गया। बचाव में आए पति साजन को भी पीटा गया। उसके मायके पक्ष की महिलाओं ने उसकी सास व ननद को गालियां दी और मारपीट की।


Next Story