Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पपला का सहयोगी गिरफ्तार, भारी मात्रा में मिले हथियार

रेवाड़ी जिले के कसोना थाना क्षेत्र में खंडर मकान से बरामद किए हथियार। पपला को भगाने व सहयोग करने वाले 33 लोगों को राजस्थान पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है।

पपला का सहयोगी गिरफ्तार, भारी मात्रा में मिले हथियार
X

 राजस्थान पुलिस ने बरामद किए एके-47 व विदेशी हथियार।

हरिभूमि न्यूज : नारनौल

एनसीआर का मोस्ट वांटेड और राजस्थान व हरियाणा से छह लाख का इनामी बदमाश विक्रम गुर्जर उर्फ पपला की तलाश में राजस्थान पुलिस ने देश के 14 राज्यों के 250 छोटे-बड़े शहरों में सर्च अभियान चलाया था। अभी रिमांड अवधि में पपला के सहयोगी महिपाल को गिरफ्तार किया है। जहां से पुलिस ने एके-47, दो विदेशी पिस्टल व 30 जिंदा कारतूस बरामद किया है, वह खंडहर मकान महिपाल का ही है। महिपाल गुर्जर ने पपला को फरारी के दौरान निरंतर सहयोग किया और उसकी लाखों रुपए की मदद की थी।

महेंदगढ़ जिला से सटे राजस्थान के नीमराणा थाना में मीडिया से रूबरू होते हुए जयपुर रेंज आईजी हवासिंह घुमरिया ने बताया कि साल-2017 में महेंद्रगढ़ कोर्ट से पेशी पर जाने के दौरान उसकी गैंग के सदस्यों ने पुलिस पर फायरिंग कर महेंद्रगढ़ जिला के गांव खैराली वासी विक्रम गुर्जर उर्फ पपला को फरार करके ले गए थे। इस फायरिंग में हरियाणा पुलिस का एसआई गंभीर रूप से घायल हो गया था, जिसकी बाद में मृत्यु हो गई थी। इसके बाद हरियाणा पुलिस उसे तलाश कर रही थी। इसी बीच 5 सितंबर 2019 की रात विक्रम पपला को बहरोड़ पुलिस ने पकड़ा था। उसे बहरोड़ थाना में रखा गया था। अगले दिन 6 सितंबर को उसके साथियों ने बहरोड़ थाना पर ही एके-47 व अन्य हथियारों से फायरिंग कर हवालात से छुड़ाकर ले गए थे।

28 जनवरी को पकड़ा था विक्रम पपला

उसकी गिरफ्तारी के लिए स्पेशल टीम बनी और पपला को भगाने व सहयोग करने वाले 33 लोगों को राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया। 17 माह बाद 28 जनवरी को विक्रम पपला को महाराष्ट्र के कोल्हापुर में उसकी महिला मित्र सहित गिरफ्तारी की गई। अदालत के निर्देश पर विक्रम पपला के रिमांड में पूछताछ की गई। इस पूछताछ के हिसाब से रेवाड़ी जिला के कसोना थाना क्षेत्र में सुने खंडरनुमा मकान में एके-47, दो विदेशी पिस्टल व 30 जिंदा कारतूस (11 राउंड एके-47, 18 राउंड 9 एमएम, 1 राउंड 30 एमएम) बरामद किए गए हैं। यह मकान पपला के सहयोगी महिपाल गुर्जर का है। महिपाल पर आरोप है कि वह पपला को फरारी के दौरान उसने निरंतर सहयोग किया और पपला को लाखों रुपए की मदद की थी।


Next Story