Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नल से घर तक जल पहुंचाने वाला प्रदेश का पहला जिला बना पंचकूला

विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 मई 2020 को जल जीवन मिशन की घोषणा की थी। इस मिशन के तहत देश के प्रत्येक घर तक नल से जल पहुचांने के लिए 2024 तक का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। हरियाणा ने 2022 तक इस मिशन को पूरा करने का संकल्प लिया है।

नल से घर तक जल पहुंचाने वाला प्रदेश का पहला जिला बना पंचकूला
X

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता

पंचकूला। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना जल जीवन मिशन के तहत प्रत्येक घर तक नल से जल पहुंचाने वाला पंचकूला प्रदेश का पहला जिला बन गया है। जिले के प्रत्येक गांव अब नल से जल आपूर्ति हो रही है। इसके लिए विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने जल जीवन मिशन और जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की सराहना की है। गुप्ता पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अब लोगों को जल के सदुपयोग के लिए जागरूक करने के लिए व्यापक अभियान चलाना है।

ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 मई 2020 को जल जीवन मिशन की घोषणा की थी। इस मिशन के तहत देश के प्रत्येक घर तक नल से जल पहुचांने के लिए 2024 तक का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। हरियाणा ने 2022 तक इस मिशन को पूरा करने का संकल्प लिया है। लेकिन पंचकूला ने यह लक्ष्य 2021 में ही हासिल कर लिया है। पंचकूला की सभी 128 ग्राम पंचायतों के कुल 33 हजार 108 घरों में पानी के कनेक्शन उपलब्ध करवा दिए गए हैं। इसके लिए जल जीवन मिशन और जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और कर्मचारी विशेष रूप से बधाई के पात्र हैं। इस पूरे प्रोजेक्ट पर 20 करोड़ रूपए की राशि खर्च की गई।

उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत हर घर में कम से कम 55 लीटर प्रति व्यक्ति के हिसाब से पानी उपलब्ध करवाने के लक्ष्य को हासिल कर लिया गया है। इसके अलावा 77 हजार मीटर लंबी पुरानी पाइपलाईनों की रिपलेसमेंट का कार्य चल रहा है और आवश्यक्ता अनुसार नई पाइपलाइन डालने की व्यवस्था भी की जा रही है। उन्होंने कहा कि गांवों में पानी की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए विलेज वाटर एण्ड सीवरेज कमेटीज का गठन किया गया है। सभी 128 पंचायतों में इन कमेटीज का गठन हो चुका है। पानी की गुणवत्ता की जांच के लिए रामगढ और पिंजौर में स्थापित लैबस को ओर अपग्रेड किया गया है। जल आपूर्ति व गुणवत्ता को लेकर किसी भी समस्या के समाधान के लिए टोल फ्री नंबर 1800-180-5678 पर संपर्क किया जा सकता है। इसके अलावा उपभोक्ता अपनी शिकायत उमंग एप्लीकेशन व सरल पोर्टल पर भी भेज सकते हैं। इन समस्याओं का समाधान दो दिन के अंदर किया जायेगा।चाहे मोरनी का पहाड़ी क्षेत्र हो या बरवाला का समतल इलाका, पानी हर घर की आवश्यक्ता है और इस लक्ष्य को प्राप्त करने वाला पंचकूला हरियाणा का पहला जिला बन गया है।

Next Story