Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पीजीआई में 24 घंटे के लिए ऑक्सीजन, 682 बेड अधिकृत

ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी दूर करने के लिए प्रशासन के कदम अब रंग लाने लगे हैं। डीसी कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि कोविड-19 (COVID-19) के भी सरकारी व निजी अस्पतालों को आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन दी जा रही है

oxygen cylinders black marketing in bihar 1 lakh 10 thousand recovered from nri for one oxygen cylinder in patna bihar Corona news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

रोहतक : ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए प्रशासन के कदम अब रंग लाने लगे हैं। पीजीआईएमएस में 24 घंटे के लिए ऑक्सीजन उपलब्ध है, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिड़ी में 80 घंटे के लिए ऑक्सीजन की उपलब्धता है। इसी प्रकार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, कलानौर में 24 घंटे और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र किलोई में 17 घंटे के लिए ऑक्सीजन है।

वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मदीना में 12 घंटे के लिए ऑक्सीजन है। डीसी कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि कोविड-19 के भी सरकारी व निजी अस्पतालों को आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन दी जा रही है। कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि शुक्रवार दोपहर तक अस्पतालों में 339 आईसीयू बेड अधिकृत किए गए थे, जिनमें से 330 पर मरीजों का उपचार चल रहा था। इसी प्रकार 682 ऑक्सीजन बेड अधिकृत किए गए थे, जिनमें से 559 पर मरीजों का उपचार चल रहा था।

उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि एक दर्जन गांव में कोरोना महामारी के मद्देनजर आइसोलेशन सेंटर स्थापित किए गए हैं। समर गोपालपुर कलां, घिलौड खुर्द, किलोई खास व दोपाना, बालंद, करौंथा, बहुअकबरपुर, सिंहपुरा कलां, भैयापुर, रिठाल फोगाट व जिंदराण शामिल हैं। एसडीएम राकेश कुमार सैनी, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी राजपाल चहल ने आइसोलेशन सेंटरों का निरीक्षण भी किया।

Next Story