Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Live : रोहतक में Cm Manohar Lal का विरोध, पुलिस और किसान आमने- सामने, स्थिति तनावपूर्ण

उग्र हो रहे किसानों को पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो टकराव काफी बढ़ गया। इस दौरान सांघी और किलोई गांव के दो बुजुर्ग घायल हो गए। किसानों ने पत्थर फेंके, जिसमें एक हवलदार को चोट आई है। हंगामा बढ़ता देख मुख्यमंत्री मनोहर लाल का हेलिकॉप्टर यूनिवर्सिटी की बजाय पुलिस लाइन के हेलीपैड पर उतारा गया।

Live : रोहतक में Cm Manohar Lal  का विरोध, पुलिस और किसान आमने- सामने, स्थिति तनावपूर्ण
X

हरिभूिम न्यूज : रोहतक

मुख्यमंत्री के रोहतक पहुंचने की सूचना के बाद शनिवार को यहां माहौल गरमा गया। कई गांवों के किसान सुबह मस्तनाथ यूनिवर्सिटी के पास इकट्ठा हो गए। वहीं कांता आलड़िया और किसान नेता अनिल बल्लू को सुबह ही पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। यूनिवर्सिटी के परिसर में ही सीएम का हेलीकॉप्टर उतरना था। किसान हेलीपैड तक जाने के लिए आगे बढ़े तो पुलिस ने रोक दिया। इससे पुलिस और किसानों में तनातनी हो गई। किसानों ने बेरिकैड्स उखाड़ दिए।

उग्र हो रहे किसानों को पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो टकराव काफी बढ़ गया। इस दौरान सांघी और किलोई गांव के दो बुजुर्ग घायल हो गए। किसानों ने पत्थर फेंके, जिसमें एक हवलदार को चोट आई है। हंगामा बढ़ता देख मुख्यमंत्री मनोहर लाल का हेलिकॉप्टर यूनिवर्सिटी की बजाय पुलिस लाइन के हेलीपैड पर उतारा गया। पूरे शहर की सुरक्षा सख्त कर दी गई थी। इसके बाद सीएम मनोहर लाल सांसद डॉ. अरविंद शर्मा के स्व. पिता सतगुरु दास शर्मा की शोक सभा में शामिल हुए। दोपहर 3.30 बजे किसान वापस लौट गए। पुलिस का कहना है कि लाठी चार्ज नहीं किया गया। किसानों को पुलिस की लाठी नहीं लगी, किसी शरारती तत्व ने पत्थर फेंका है जो एक पुलिस कर्मचारी व दो बुजुर्गों को लगा। पुलिस ने समझाने का प्रयास किया।


एक बजे उतरना था हेलीकॉप्टर

यूनिवर्सिटी के पास किसान और पुलिस आमने-सामने थे। उस तरफ करीब दो बजे सीएम का हेलीकॉप्टर पुलिस लाइन में उतार दिया गया। यहां से सीएम भारी सुरक्षा के बीच सांसद डॉ. अरविंद शर्मा के पिता सतगुरु की शोक सभा में पहुंचे। शाम करीब 3.30 बजे किसान वापस चले गए। शेड्यूल के अनुसार दोपहर एक बजे मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर को मस्तनाथ विवि में हेलीपैड पर उतारा जाना था। किसानों के विरोध के कारण पुलिस लाइन में हेलीकॉप्टर उतरा। 


लाठीचार्ज नहीं किया

हमारी तरफ से किसानों पर लाठीचार्ज नहीं किया गया। उन्होंने खुद आकर जाम लगाया था। एडीजीपी संदीप खिरवार, एएसपी नरेंद्र कादयान, डीएसपी सज्जन कुमार समेत अन्य अधिकारी मौके पर थे। उन्होंने किसानों से बातचीत कर मामला निपटाने का प्रयास किया। इसी दौरान किसानों की तरफ से किसी शरारती तत्व ने किसानों और पुलिस पर पत्थर फेंक दिए। एक जवान को पत्थर लगा है। इसके अलावा किसानों में शामिल एक बुजुर्ग को पत्थर लगा है। - राहुल शर्मा, एसपी रोहतक

Next Story