Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जाति प्रमाण-पत्र बनवाने के लिए किसी को सरल केंद्र में नहीं जाना पड़ेगा

अपने घर बैठे कंप्यूटर से ऑनलाइन जाति प्रमाण-पत्र निकाल सकते हैं। सरकार का आदेश है कि हर फैमिली आइडी में परिवार की जाति का भी वर्णन किया जाए। उपायुक्त ने कहा कि मेरा परिवार मेरी पहचान पोर्टल पर नागरिक अपनी फैमिली आईडी को दुरूस्त करवा सकता है।

जाति प्रमाण-पत्र बनवाने के लिए किसी को सरल केंद्र में नहीं जाना पड़ेगा
X

चरखी दादरी : बैठक में उपस्थित अधिकारी व उपायुक्त।

हरिभूमि न्यूज : चरखी दादरी

जिला प्रशासन की ओर से परिवार पहचान-पत्र में हर पारिवारिक इकाई की जाति तथा वार्षिक आय का सत्यापन किया जाएगा। यह कार्य पटवारी और बीएलओ की टीम से करवाया जाएगा। इसके बाद जाति प्रमाण-पत्र बनवाने के लिए किसी को सरल केंद्र में नहीं आना पड़ेगा।

उपायुक्त राजेश जोगपाल ने अधिकारियों की बैठक को संबोधित करते यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जाति प्रमाण-पत्र बनवाने के लिए भविष्य में युवाओं को एसडीएम ऑफिस या सरल केंद्र में आने की आवश्यकता नहीं होगी। वे अपने घर बैठे कंप्यूटर से ऑनलाइन जाति प्रमाण-पत्र निकाल सकते हैं। सरकार का आदेश है कि हर फैमिली आइडी में परिवार की जाति का भी वर्णन किया जाए। उपायुक्त ने कहा कि मेरा परिवार मेरी पहचान पोर्टल पर नागरिक अपनी फैमिली आईडी को दुरूस्त करवा सकता है। यह फैमिली आईडी जिला के प्रत्येक सीएससी सेंटर में बनाई जा रही है। उपायुक्त ने बताया कि हर गांव और शहर में पटवारी ऑनलाइन बैठकर एक-एक परिवार की जाति का सत्यापन फैमिली आईडी को देखकर करेंगे। इसी प्रकार बीएलओ हर बूथ पर एक सोशल वर्कर और ऑपरेटर के साथ हर परिवार की वार्षिक आय का सत्यापन करेंगे। इस कार्य को करवाने के लिए पटवारियों और बीएलओ को प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

राजेश जोगपाल ने कहा कि जिला में एक लाख 32 हजार, एक सौ तेईस पारिवारिक इकाई हंै। इनमें से एक लाख 19 हजार 307 परिवारों की आईडी बन चुकी है और 12 हजार 816 परिवारों को अपडेट किया जाना है। बाकी बचे परिवार के सदस्य भी अपनी आईडी शीघ्र बनवा लें। हरियाणा सरकार का निर्णय है कि भविष्य में हर सरकारी काम में फैमिली आईडी को संलग्र करना अनिवार्य होगा। फैमिली आईडी के आधार पर ही वृद्घावस्था पेंशन, जाति प्रमाण-पत्र, वार्षिक आय, प्रधानमंत्री आवास योजना आदि का लाभ आम नागरिकों को दिया जाएगा। इसलिए दादरी जिला के सभी परिवार अपनी फैमिली आईडी बनवाना सुनिश्चित कर लें। इसका आने वाले समय में काफी लाभ होगा। सरकार की सभी जनकल्याणकारी योजनाएं इसी आईडी के आधार पर दी जाएंगी। बैठक में परियोजना अधिकारी दीवान श्योराण एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Next Story