Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मुजफ्फरनगर की तर्ज पर 15 अक्टूबर को रोहतक में किसान महापंचायत

कार्यक्रम मकड़ौली टोल प्लाजा पर होगा। क्योंकि यहीं पर ही जिले में सबसे पहले किसानों ने धरना शुरू किया था।

मुजफ्फरनगर की तर्ज पर 15 अक्टूबर को रोहतक में किसान महापंचायत
X

राजू मकड़ौली

हरिभूमि न्यूज. रोहतक

तीनों कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग को लेकर बीते 27 सितम्बर को भारत बंद का आह्वान संयुक्त किसान मोर्चा ने किया। अब 15 अक्टूबर रोहतक में संयुक्त मोर्चा मुजफ्फरनगर की तर्ज पर किसान महापंचायत का आयोजन करेगा। कार्यक्रम मकड़ौली टोल प्लाजा पर होगा। क्योंकि यहीं पर ही जिले में सबसे पहले किसानों ने धरना शुरू किया था। हालांकि मदीना टोल प्लाजा पर भी किसान निरंतर धरने पर बैठे हैं। लेकिन मदीना का धरना मकड़ौली के बाद प्रारम्भ हुआ था। भारतीय किसान यूनियन गुरनाम सिंह चढूनी गुट के जिलाध्यक्ष राजू मकड़ौली ने बताया कि गत 23 सितम्बर को एक प्रस्ताव संयुक्त मोर्चा की नौ सदस्यीय कमेटी को गया था। इस प्रस्ताव को कमेटी ने मंगलवार को स्वीकृति प्रदान कर दी है।

राजू मकड़ौली ने कहा कि महापंचायत में कौन-कौन किसान नेता शामिल होंगे, यह संयुक्त मोर्चा अपने स्तर पर तय करेगा। राजू ने कहा कि जिस तरह से गत 5 सितम्बर को मुजफ्फरनगर में महापंचायत का आयोजन किया गया था, ठीक उसी तर्ज पर रोहतक में कार्यक्रम होगा। उन्होंने बताया कि टोल प्लाजा के साथ लगती तीस एकड़ जमीन में महापंचायत होगी। किसान नेता ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं करेगी तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि तीन कानूनों की सबसे ज्यादा मार भूमिहीन लोगों पर पड़ेगी। क्योंकि इनकी दो वक्त की रोटी पूंजीपतियों की तिजोरी में बंद हो जाएगी। राजू ने कहा कि अगर गरीबों की रोटी का निवाला छीनने से बचाना है तो सभी वर्गों को एकजुट होकर आंदोलन में शामिल होना चाहिए।

Next Story