Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अधिकारियाें को 48 घंटे में सरकार के पास भेजनी होगी बारिश से खराब हुई फसलों की रिपोर्ट

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बताया कि जो फसल प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत कवर नहीं होती हैं उन फसलों के नुकसान का भी मुआवजा दिया जाएगा।

अधिकारियाें को 48 घंटे में सरकार के पास भेजनी होगी बारिश से खराब हुई फसलों की रिपोर्ट
X

चंडीगढ़। हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि सभी डीसी को निर्देश दिए गए हैं कि प्रदेश में 100 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश वाले क्षेत्रों की अगले 48 घंटे में रिपोर्ट दें ताकि प्रभावित क्षेत्र की स्पेशल गिरदावरी करवाकर किसानों को उनके नुकसान की भरपाई की जा सके। जो फसल प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत कवर नहीं होती हैं उन फसलों के नुकसान का भी मुआवजा दिया जाएगा।

डिप्टी सीएम, जिनके पास राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग का प्रभार भी है, ने पत्रकार-वार्ता के दौरान बताया कि मौसम विभाग की भविष्यवाणी के अनुसार 30 सितंबर 2021 तक गैर-मौसमी बारिश होने की संभावना है। उपायुक्तों को निर्देश दिए हैं कि अपने-अपने जिले की रिपोर्ट बनाकर भेजें जिसमें 100 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश तथा बारिश के कारण जलभराव की रिपोर्ट भेजना सुनिश्चित करें।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा बागवानी व दलहन जैसी उन फसलों के नुकसान की भी क्षतिपूर्ति की जाएगी जो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत कवर नहीं होती हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में दलहन व कपास की फसल में ज्यादा नुकसान होने की संभावना है जिसकी रिपोर्ट मिलने के बाद स्पेशल गिरदावरी करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि केएमपी के आस-पास के क्षेत्र में करीब साढ़े सात हजार एकड़ में जलभराव की समस्या भी सामने आई है, उसमें जिन-जिन किसानों को नुकसान हुआ है, रिपोर्ट आने के बाद गिरदावरी करवाकर प्रभावित किसानों क्षतिपूर्ति के लिए मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस वर्ष फसलों के नुकसान की जो नियमित गिरदावरी हुई थी उसकी भी रिपोर्ट आ गई है, सरकार ने बीमा कंपनियों को निर्देश दे दिए गए हैं कि वे किसानों के मुआवजे का भुगतान जल्द से जल्द करें, इसके अलावा जो फसल प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत कवर नहीं होती हैं उनके नुकसान का भुगतान करने के लिए भी उपायुक्तों को निर्देश दे दिए गए हैं।


Next Story