Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पहलवानी में अब दमखम के साथ बढ़ रहा तकनीक का प्रयोग

गांव नूना माजरा के निवासी संजीव जून ने बताया कि देश में कुश्ती की खुद की कोई एंड्रॉयड एप नहीं है। बकौल संजीव, उन्होंने पहले कुश्ती के दीवाने नाम से यू-ट्यूब चैनल बनाया था। इससे उभरते पहलवानों को बहुत लाभ मिला। उसी तर्ज पर उनकी टीम ने पहलवानों की मदद के लिए देश की पहली एंड्रॉयड एप बनाई है। इसे भी कुश्ती के दीवाने नाम दिया गया है।

पहलवानी में अब दमखम के साथ बढ़ रहा तकनीक का प्रयोग
X

बहादुरगढ़ : कुश्ती के दीवाने एप के स्क्रीन शॉट, संजीव जून

मनीष कुमार. बहादुरगढ़

दमखल का प्राचीन खेल कुश्ती भी लगातार हाइटेक हो रहा है। कुश्ती को बढ़ावा देने और युवा प्रतिभाओं की मदद के लिए अब कुश्ती के दीवाने नाम से एंड्रॉयड एप बनाई गई है। दावा है कि कुश्ती पर बनी यह देश में पहली एप है। इसके जरिये उभरते पहलवान डाइट, वर्कआउट व कुश्तियांे के बारे में जानकारी पा सकेंगे।

कुश्ती केवल एक खेल या मनोरंजन का साधन ही नहीं बल्कि हमारी प्राचीन परंपरा है। आज के आधुनिक युग में भी इसकी लोकप्रियता कम नहीं हुई है। विश्व में जब भी कुश्ती का जिक्र होता है तो भारत का नाम उभर कर सामने आता है। हां, ये भी सच है कि वर्तमान में अखाड़े कम हो रहे हैं, लेकिन कुछ प्रयासों से हम अपनी तमाम पुरानी परंपराओं को ख्याल रख सकते हैं। विश्व के तमाम खेल अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस हो रहे हैं। यहां की कुश्ती भी मिट्टी से उठकर मैट पर आ रही है। गांव नूना माजरा के निवासी संजीव जून ने बताया कि देश में कुश्ती की खुद की कोई एंड्रॉयड एप नहीं है। बकौल संजीव, उन्होंने पहले कुश्ती के दीवाने नाम से यू-ट्यूब चैनल बनाया था। इससे उभरते पहलवानों को बहुत लाभ मिला। उसी तर्ज पर उनकी टीम ने पहलवानों की मदद के लिए देश की पहली एंड्रॉयड एप बनाई है। इसे भी कुश्ती के दीवाने नाम दिया गया है।

संजीव ने बताया कि कुश्ती बेहद मेहनत और संघर्ष वाला खेल है। बहुत से इलाकों के युवा पहलवान बनना चाहते हैं, लेकिन सही जानकारी न मिलने के कारण काफी युवा ऐसा नहीं कर पाते। युवा प्रतिभाओं की मदद के लिए ही उन्होंने कुश्ती के दीवाने नाम से वेबसाइट व एंड्रॉयड एप बनाई है। यह एप युवा प्रतिभाओं के लिए मील का पत्थर साबित होगी। इस एप पर तमाम दंगलों, चैंपियनशिप कार्यक्रमों की जानकारी उपलब्ध रहेगी। टिप्स, तकनीक, डाइट प्लान आदि इस पर अपलोड किए गए हैं। कई नामी पहलवानों के अभ्यास करते वीडियो भी अपलोड किए गए हैं, ताकि युवाओं को सही और उचित जानकारी मिल सके। इस एप के जरिये पहलवानों को पता चलता रहेगा कि कौन सा सामान क कहां से खरीदना है, किस समय क्या डाइट लेनी है और क्या कसरत करनी है। इस एप के जरिये प्राचीन परंपरा कुश्ती को बढ़ावा व पहलवानांे की मदद का प्रयास किया है।

Next Story