Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब रिफाइंड और सरसों के तेल के दाम बढ़े

तेल के दामों में बढ़़ोतरी से रसोई का बजट गड़बड़ा रहा है। पिछले तीन माह में लोग जब भी रिफाइंड और सरसों को तेल खरीदने गए हैं, तो उन्हें दाम बढ़़ हुए मिले। कई माह से तेलों के दामों में कमी नहीं आई है।

अब रिफाइंड और सरसों के तेल के दाम बढ़े
X

बहादुरगढ़। एक डिपार्टमेंटल स्टोर में बिक्री के लिए रखा कुकिंग ऑयल।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

सब्जियों के दामों में राहत मिलने के बाद रिफाइंड और सरसों के तेल के दाम में बढ़ोतरी जारी है। तेल के दाम बढ़ने से आम आदमी परेशान हैं। अभी ये तेजी थमने का नाम नहीं ले रही, आने वाले समय में रिफाइंड के दामों में और तेजी की आशंका जताई जा रही है। पिछले तीन माह में रिफाइंड के दामों में 20 रुपए लीटर की तेजी आई है। इसी तरह सरसों के तेल के दाम भी तीन माह में 40 रुपए तक बढ़ गए हैं।

जी हां, खाद्य तेल पर महंगाई की मार जारी है। तेल के दामों में बढ़़ोतरी से रसोई का बजट गड़बड़ा रहा है। पिछले तीन माह में लोग जब भी रिफाइंड और सरसों को तेल खरीदने गए हैं, तो उन्हें दाम बढ़़ हुए मिले। कई माह से तेलों के दामों में कमी नहीं आई है। सरसों के तेल के दाम 140 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गए हैं। पिछले तीन माह में सरसों के तेल के दाम में 40 रुपए की बढ़़ोतरी हुई है। दिसंबर से जनवरी की बात करें तो सरसों के तेल के दाम 10 रुपए किलो बढ़़ गए हैं।

सरसों का तेल का एक लीटर का पैकेट तीन माह पहले 97 रुपए का था, अब इसकी कीमत 138 रुपए हो गई है। इसी तरह एक माह पहले 15 लीटर का टिन की कीमत 1650 रुपए थी। ऐसे में जो लोग उस दाम के अनुसार बाजार में अब रिफाइंड लेने पहुंच रहे हैं, उन्हें एक टीम पर 300 रुपए ज्यादा चुकाने पड़ रहे हैं। अब 15 लीटर रिफाइंड की टिन 1950 रुपए की मिल रही है। इसके साथ एक लीटर रिफाइंड 98 रुपए से 130 रुपए हो गया है। किराना दुकानदार सुंदरलाल ने बताया कि रिफाइंड की 15 लीटर टिन पर पिछले तीन माह में 300 रुपए की तेजी आई है। सोयाबीन की फसल की पैदावार अच्छी न होने के कारण रिफाइंड के दामों पर असर पड़ा है। सरसों के तेल में भी तेजी बनी हुई है।

Next Story