Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नई व्यवस्था लागू : ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अब ट्रेनिंग स्कूल से लेना होगा सर्टिफिकेट, जेब पर पड़ेगा असर

पहले एक टेस्ट ड्राइव के जरिए आपको लाइसेंस जारी कर दिया जाता था। मगर अब इसके लिए ड्राइविंग स्कूल से 21 दिन का कोर्स करना होगा। यह कोर्स करने के बाद ही लाइसेंस मिल पाएगा।

आपका Driving Licence
X

Driving Licence 

हरिभूमि न्यूज. अंबाला

ड्राइंविंग लाइसेंस (Driving License) बनवाना भी अब महंगा हो जाएगा। पहले एक टेस्ट ड्राइव के जरिए आपको लाइसेंस जारी कर दिया जाता था। मगर अब इसके लिए ड्राइविंग स्कूल से 21 दिन का कोर्स करना होगा। यह कोर्स करने के बाद ही लाइसेंस मिल पाएगा। नई व्यवस्था से आपकी जेब भी ढीली होगी। क्योंकि ड्राइविंग स्कूलों से 21 दिन का कोर्स पूरा करने के लिए आपको मोटी फीस का भुगतान करना होगा। अभी राज्य सरकार की ओर से यह फीस तय नहीं हो पाई है।

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए पहले दो तरह की व्यवस्थाएं थी। लर्निंग लाइसेंस के लिए चालक को कंप्यूटर पर एक टेस्ट पास करना होता था। जिसे पास करने पर उसे लर्निंग लाइसेंस जारी कर दिया जाता था। इस लाइसेंस की मियाद कुछ महीने होती है। इसके बाद को पक्का ड्राइविंग लाइसेंस लेने के लिए टेस्ट ड्राइव देनी होती थी। उसे पास करने के बाद ही उसे लाइसेंस जारी किया जाता था। पिछले कुछ महीने तो केवल उन्हें वाहनों का लाइसेंस जारी किया जा रहा है जोकि चालक जांच अधिकारी के सामने चला सकता है। इस व्यवस्था से ज्यादातर चालक बेहद दुखी थे क्योंकि जो चालक कार व दूसरे चारपहिया वाहन नहीं चला पा रहे थे उन्हें केवल मोटरसाइकिल का ही लाइसेंस जारी हो रहा था। जबकि इससे पहले मोटरसाइकिल के साथ ज्यादातर को छोटे चार पहिया वाहनों को चलाने का लाइसेंस भी मिल जाता था।

नई व्यवस्था के लाभ भी नुकसान भी

नई व्यवस्था से आवेदकों को लाभ भी हैं नुकसान भी। क्योंकि अब आवेदकों को कोई टेस्ट नहीं देना होगा। न ही लाइसेंस के लिए किसी को सुविधा शुल्क देने की मजबूरी होगी। पर अब 21 दिन के कोर्स के लिए उसे मोटी फीस भुगतान करनी होगी। कोर्स पूरा करने वालों को ही सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा। हालांकि इस व्यवस्था में भी बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार होने की बात कही जा रही है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की ओर से इस सिलसिले में राज्य सरकार को जरुरी आदेश जारी कर दिए गए हैं।

13 स्कूलों को दी गई मंजूरी : प्रशासन की ओर से जिले में 13 ड्राइविंग स्कूलों को ट्रेनिंग के लिए अधिसूचित किया। इसमें अंबाला शहर में मारूति ड्राइविंग स्कूल सहित कुल 4 स्कूल हैं। ये स्कूल अपनी फीस लेकर आवेदक को 21 दिन का कोर्स करवाएंगे। इसके बाद सभी को सर्टिफिकेट जारी किए जांऐ। तभी वे लाइसेंस के हकदार होंगे। परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करते समय ड्राइविंग टेस्ट की आवश्यकता से छूट मिल जाएगी।

3 से चार हजार रुपये की होती है वसूली : ड्राइविंग स्कूल चलाने वाले लोग अभी कार चलाना सीखाने की एवज में 3 से चार हजार रुपये की वसूली कर रहे हैं। प्राइवेट लोग इससे 500 रुपये कम वसूल करते हैं। ऐसे में अब ड्राइविंग सर्टिफिकेट अनिवार्य होने से इन लोगों की चांदी हो जाएगी। 21 दिन के कोर्स के लिए ये हर आवेदक से मनमानी फीस वसूल कर सकते हैं। हालांकि इसके लिए सरकार की ओर से फीस तय करने की बात कही जा रही है। मगर अभी तक ऐसे आदेश नहीं आए हैं। ऐसे में उन लोगों के धड़कन बढ़ी हुई जोकि ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने वाले हैं।

Next Story