Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेडक्रॉस की नई पहल : अब गांव स्तर पर फर्स्ट एड व होम नर्सिंग की प्रोफेशनल ट्रेनिंग

जिला रेडक्रॉस समिति की ओर से किसी भी दुर्घटना से बचने व रोजगार उपलब्ध हो सके, इसके लिए जिले के सभी गांव में 18 वर्ष से अधिक की उम्र के युवक व युवतियों को सूचीबद्ध करने की नई पहल की है।

रेडक्रॉस की नई पहल : अब गांव स्तर पर फर्स्ट एड व होम नर्सिंग की प्रोफेशनल ट्रेनिंग
X

श्यामलाल पूनिया

हरिभूमि न्यूज : नारनौल

उपायुक्त एवं जिला रेडक्रॉस समिति के प्रधान श्यामलाल पूनिया के मार्गदर्शन में रेडक्रॉस समिति की ओर से फर्स्ट एड एंव होम नर्सिंग की प्रोफेशनल ट्रेनिंग गांव स्तर पर करवाने की पहल की हैं। हरियाणा राज्य में रेडक्रॉस नारनौल पहली ऐसी ब्रांच हैं जिसने इस सेवा को गांव स्तर पर ले जाने की पहल की है। युवा ट्रेनिंग के लिए रेडक्रॉस हरियाणा की वेबसाइट हरियाणा रेडक्रॉस डॉट इन पर पंजीकरण करवा सकते हैं।

यह जानकारी देते हुए जिला रेडक्रॉस समिति के सचिव श्याम सुंदर ने बताया कि यदि हम जीवन में समाजसेवा के भाव से काम करते हैं तो इसका लाभ आमजन को भी मिलने लगता हैं। जी हां यह बात सौलहा आने सच हैं। उन्होंने बताया कि जिला रेडक्रॉस समिति की ओर से किसी भी दुर्घटना से बचने व रोजगार उपलब्ध हो सके, इसके लिए जिले के सभी गांव में 18 वर्ष से अधिक की उम्र के युवक व युवतियों को सूचीबद्ध करने की नई पहल की है।

उन्होंने बताया कि आमजन को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इसी उद्देश्य से फर्स्ट एड एंव होम नर्सिंग की प्रोफेशनल ट्रेनिंग को अब जिला स्तर पर देने के साथ-साथ सभी उपमंडल, खंड स्तर, यहां तक की गांव में देने का भी प्रोजेक्ट बनाया है। उन्होंने बताया कि अब तक रेडक्रॉस टीम की ओर से कनीना, नांगल चौधरी के 40 से अधिक गांव में युवाओं से सम्पर्क किया जा चुका हैं। जिससे कि युवा चार दिन की प्रोफेशनल फर्स्ट एड एंव होम नर्सिंग की ट्रेनिंग लेने के बाद कंडक्टर का लाइसेंस बनवाकर किसी भी परिवहन विभाग, कम्पनी, फैक्ट्री में रोजगार के लिए अप्लाई कर सकें और फर्स्ट एड का लेक्चरर बनकर हजारों युवाओं को प्रशिक्षण देकर खुद को एंव युवाओं को आत्मनिर्भर बना सकें।

युवा समय व पैसा बचा पाएंगे

रेडक्रॉस सचिव ने बताया कि भारतीय रेडक्रॉस सैंट जॉन एंबुलेंस इंडिया की ओर से करवाई जाने वाली फर्स्ट एड व होम नर्सिंग की ट्रेनिंग के लिए युवाओं को अब तब दूर-दराज के गांव से नारनौल शहर आना पड़ता था। अब नई पहल से युवाओं को रेडक्रॉस महेंद्रगढ़ ने गांव स्तर पर यह प्रशिक्षण देने की शुरुआत की हैं जिससे युवाओं का पैसा और समय दोनों ही बच पाएंगे। राज्य में रेडक्रॉस नारनौल पहली ऐसी ब्रांच हैं जिसने इस सेवा को गांव स्तर पर ले जाने के लिए पहल की हैं। जिला रेडक्रॉस के अनुसार युवा ट्रेनिंग के लिए रेडक्रॉस हरियाणा की वेबसाइट हरियाणा रेडक्रॉस डॉट इन पर पंजीकरण करवा सकते हैं और पंजीकरण के बाद 25 युवाओं का बैच तैयार कर फर्स्ट एड की ट्रेनिंग रेडक्रॉस की अनुभवी टीम की ओर से गांव स्तर पर दी जाएगी। इस अनूठी पहल से जिले के सभी गांव में फर्स्ट एड लेक्चरर बन पाएंगे और किसी भी आपदा के समय फर्स्ट एड की सेवाऐं ली जा सकेंगी। उन्होंने बताया कि बाछौद पहला ऐसा गांव हैं, जहां अभी तक 75 युवा यह प्रोफेशनल ट्रेनिंग ले चुके हैं।

और पढ़ें
Next Story