Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

New Covid Variant : कोरोना के नए वेरिएंट से निपटने के लिए हरियाणा सरकार कितनी तैयार, स्वास्थ्य मंत्री ने क्या कहा

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के नियमों जैसे कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क इत्यादि का प्रयोग अवश्य जारी रखें ताकि करोना से बचाव किया जा सके।

New Covid Variant : कोरोना के नए वेरिएंट से निपटने के लिए हरियाणा सरकार कितनी तैयार, स्वास्थ्य मंत्री ने क्या कहा
X

प्रतीकात्मक तस्वीर।

पंचकूला। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ( Health Minister Anil Vij ) ने कहा कि कोरोना का नया वेरिएंट ( New Covid Variant ) ओमाइक्रोन (omicron) जोकि साउथ अफ्रीका ( South Africa ) में पाया गया है उससे निपटने के लिए हम पूरी तैयारी कर रहे हैं और इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग ( health Department ) के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे कोरोना की टेस्टिंग ( Corona Test ) बढ़ाने का कार्य आरंभ कर दें। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के नियमों जैसे कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क इत्यादि का प्रयोग अवश्य जारी रखें ताकि करोना से बचाव किया जा सके।

विज पंचकूला में वयोवृद्ध डॉक्टरों को सम्मानित करने के लिए हरियाणा मेडिकल काउंसिल द्वारा आयोजित "वटवृक्ष पुरस्कार" समारोह में विशिष्ट अतिथि के रुप में उपस्थित जनों को संबोधित कर रहे थे। विज ने कहा कि हालांकि हरियाणा में दो दिन को छोडकर पिछले कुछ दिनों से कोविड-19 के 20 से नीचे मरीज़ों की संख्या रही है लेकिन फिर भी हमें सचेत रहना है क्योंकि यह कभी भी मल्टीप्लाई होना शुरू हो जाता है इसलिए सचेत रहते हुए कोरोना के नियमों का हमें अवश्य पालन करना चाहिए।

हरियाणा पहला ऐसा राज्य होगा जो ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर होगा

स्वास्थ्य मंत्री विज ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान हालांकि कुछ ऑक्सीजन ( oxygen ) के मामले में प्रदेश में दिक्कत आई थी लेकिन हमने त्वरित कार्रवाई करते हुए इस दिक्कत का भी समाधान करने का काम किया और अब हमने राज्य के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों को निर्देश जारी कर रखे हैं कि जिन सरकारी और निजी अस्पतालों के 50 से अधिक बैड हैं वे अपनी आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन का प्लांट लगाएंगे और उन्हें उम्मीद है कि आने वाले समय में हरियाणा देश का पहला ऐसा राज्य होगा जो ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर होगा।

हरियाणा में अब तक 2.83 करोड़ वैक्सीन

उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन ( vaccination ) के मामले में भी देश ने मील का पत्थर स्थापित किया है, इतनी घातक बीमारी की वैक्सीन का भी हमने हिंदुस्तान में निर्माण किया जोकि उल्लेखनीय है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन कोविड का सुरक्षा कवच है और इसी दिशा में हरियाणा में अब तक दो करोड़ 83 लाख वैक्सीन लोगों को लगाई जा चुकी हैं। उन्होंने कहा कि कोविड एक चुनौती की तरह हमारे सामने आया और इस चुनौती का सामना करने के लिए मुख्यमंत्री का हमें लगातार मार्गदर्शन मिलता रहा और हमने इसकी दोनों लहरों में सफलता से लड़ाई भी लड़ी।

22 जिलों में आरटीपीसीआर लैब स्थापित करेंगे

उन्होंने कहा कि करोना योद्धाओं की याद में मुख्यालय स्तर और हर उस जिले में वाल ऑफ़ मेमोरी की स्थापना की गई है जहां पर अंतिम समय पर इन्होंने अपने दायित्व का निर्वहन किया था। उन्होंने कहा कि आज वे इतिहास का अंग बन गए हैं यदि कभी दोबारा इस तरह की विकट परिस्थितियां बनती है तो आने वाली पीढ़ियों को इस अनुभव से सीख मिलेगी कि किस प्रकार से हमने इंतजाम किए। उन्होंने कहा कि किस प्रकार से हमने रातों-रात हरियाणा में टेस्टिंग लैब का जाल बिछाया और आज हमारे पास 18 जिलों में आरटीपीसीआर लैब है क्योंकि इस बीमारी से पार निकलने के लिए टेस्टिंग बहुत जरूरी है और हम 22 जिलों में आरटीपीसीआर लैब स्थापित करेंगे।

और पढ़ें
Next Story