Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अखाड़े में हत्या मामला : पहलवान निशा को चार तो सूरज को मारी थी तीन गोलियां, कोच की पत्नी और साला गिरफ्तार

गांव हलालपुर की निशा (22) ने कोच की हरकतों का विरोध किया था। जिसके चलते उसकी और उसके भाई की बुधवार को गांव में स्थित सुशील कुश्ती अकादमी में गोली मारकर हत्या कर दी थी।

अखाड़े में हत्या मामला : पहलवान निशा को चार तो सूरज को मारी थी तीन गोलियां, कोच की पत्नी और साला गिरफ्तार
X

 गिरफ्तार किए गए आरोपित।

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

गांव हलालपुर अकादमी में एक दिन पहले ही महिला पहलवान और उसके भाई की हत्या मामले में गुरुवार को मृतकों के शवों का पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम में दोनों के शरीर से कुल सात गोलियां निकाली गई हैं। इसमें निशा के शरीर से चार व सूरज के शरीर से तीन गोलियां निकाली गई हैं। नागरिक अस्पताल में गुरुवार को चिकित्सकों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई। इसके बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया। शाम के समय दोनों का गांव के शमशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया। गांव में गमगीन माहौल बना हुआ है। हत्या में नामजद मुख्य आराेपी कोच की पत्नी और साले को एसआइटी ने बृहस्पतिवार शाम को रोहतक से गिरफ्तार कर लिया।

मुख्य आरोपित कोच पवन की पत्नी सुजाता और उसके एक साले अमित को शुक्रवार को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। वहीं इस मामले में ग्रामीणों ने गांव में पंचायत भी की थी। बता दें कि गांव हलालपुर की निशा (22) ने कोच की हरकतों का विरोध किया था। जिसके चलते उसकी बुधवार को गांव में स्थित सुशील कुश्ती अकादमी में गोली मारकर हत्या कर दी थी। इससे पहले कोच पवन ने उसके परिजनों को निशा की तबियत खराब होने की जानकारी दी थी। बेटी को लेने बेटे सूरज के साथ गई मां धनपति के सामने ही निशा को गोली मारी थी। बाद में धनपति व उसके बेटे सूरज को भी गोली मार दी थी। निशा व सूरज की मौत हो गई थी। धनपति ने हत्या का आरोप कुश्ती अखाड़ा चलाने वाले कोच पवन कुमार, उसकी पत्नी सुजाता और दो सालों अमित व सचिन सहित अन्य लोगों पर लगाया था। आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी की मांग को लेकर ग्रामीणों की बृहस्पतिवार दोपहर हलालपुर में पंचायत हुई थी।

पंचायत के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपित व सुशील कुमार कुश्ती एकेडमी के संचालक-कोच पवन कुमार व उसके साले सचिन पर एक लाख रुपये के पुरस्कार का एलान किया था। दोपहर में नागरिक अस्पताल में निशा और सूरज का पोस्टमार्टम चिकित्सकों के पैनल ने किया। पोस्टमार्टम के अनुसार निशा को चार और सूरज को तीन गालियां मारी गई थीं। जिसमें निशा को एक गोली सिर, एक गोली छाती व दो गोली हाथ में लगी हैं। वहीं सूरज को कान, मुंह व कमर में गोली मारी गई है। पोस्टमार्टम के दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण व सीआरपीएफ के कमांडेंट सहित कई अधिकारी मौके पर रहे। पोस्टमार्टम के बाद शवों को सीआरपीएफ के वाहन से हलालपुर ले जाया गया। पीएमओ डा. जयभगवान जाटान ने बताया कि सातों गोलियों को सील कर दिया है।


निशा और सूरज की फाइल फोटो

सीआईए की चार टीमें गठित

आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने सीआइए की चार टीमों का गठन किया था। सीआइए की टीम ने दो आरोपितों सुजाता और उसके भाई अमित को को रोहतक की डिग्गल रोड से गिरफ्तार कर लिया है। एसआइटी उनको लेकर सोनीपत आ रही है। शुक्रवार दोपहर में उनको न्यायालय में पेश किया जाएगा। सुजाता मुख्य आरोपित कोच पवन की पत्नी है और अमित उसका साला है। वहीं कोच पवन व उसके दूसरे साले सचिन की गिरफ्तारी पर पुलिस ने पोस्टर चस्पा कराए हैं।

गमगीन माहौल में हुआ अंतिम संस्कार

हलालपुर में हुई भाई-बहन की हत्या के बाद गुरुवार को दोनों का गमगीन माहौल में शाम अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान भारी संख्या में ग्रामीणों के साथ ही पुलिस बल भी मौजूद रहा। वहीं सीआरपीएफ की तरफ से भी अधिकारी व जवान मौजूद रहे। गुरुवार की सुबह ग्रामीणों ने पंचायत कर आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की वहीं आरोपितों पर पांच लाख का इनाम भी घोषित करने की मांग की। पंचायत में विधायक मोहन लाल बाडोली भी पहुंचे, जिन्होंने सख्त करवाई का आश्वासन दिया। वहीं पंचायत में मौजूद एएसपी डा. मयंक गुप्ता ने ग्रामीणों को बताया कि पुलिस की तरफ से आरोपितों पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित कर दिया गया है। सुबह के समय ग्रामीणों ने पंचायत करके पुलिस से आरोपियों के गिरफ्तार होने की मांग की थी। वही अकादमी को बंद कर करने के लिए मांग की गई।

Next Story