Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अंबाला का नामी आम्रपाली रिजॉर्ट नगर निगम ने किया सील, जानिये कारण

नेशनल हाईवे पर स्थित आम्रपाली रिजॉर्ट की गिनती यहां के नामी होटलों में होती है। यह काफी पुराना रिजॉर्ट है। अक्सर इस रिजॉर्ट में शादी समारोह के साथ राजनैतिक, सामाजिक व सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन होता है। पिछले लंबे समय से इसके मालिक की ओर से प्रोपर्टी टैक्स का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इसी वजह से नगर निगम की ओर से मालिक को लगातार नोटिस भेजे जा रहे थे।

अंबाला का नामी आम्रपाली रिजॉर्ट नगर निगम ने किया सील, जानिये कारण
X

आम्रपाली रिजॉर्ट का बाहरी दृश्य और मुख्य गेट पर सील लगाते नगर निगम के अधिकारी।

हरिभूमि न्यूज. अंबाला

दिल्ली-अमृतसर नेशनल हाइवे पर स्थित आम्रपाली रिजॉर्ट एवं होटल को नगर निगम ने सील कर दिया है। इस रिजॉर्ट पर 8 लाख रुपये का प्रोपर्टी टैक्स बकाया है। इस भुगतान के लिए नगर निगम की ओर से रिजॉर्ट मालिक को लगातार नोटिस भेजे जा रहे थे। निगम अधिकारियों की मानें तो सीलिंग का नोटिस देने के बावजूद मालिक की ओर से बकाया टैक्स का भुगतान नहीं किया। इसी वजह से अब उसे सील करने की कार्रवाई की गई। उधर रिजॉर्ट मालिक रोहित जैन ने कार्रवाई को पूरी तरह गैरकानूनी ठहराया है। फिलहाल सीलिंग के बाद रिजॉर्ट में तमाम गतिविधियां बंद हो गई हैं।

लंबे समय से नहीं किया टैक्स का भुगतान

नेशनल हाइवे पर स्थित आम्रपाली रिजॉर्ट की गिनती यहां के नामी होटलों में होती है। यह काफी पुराना रिजॉर्ट है। अक्सर इस रिजॉर्ट में शादी समारोह के साथ राजनैतिक, सामाजिक व सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन होता है। पिछले लंबे समय से इसके मालिक की ओर से प्रोपर्टी टैक्स का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इसी वजह से नगर निगम की ओर से मालिक को लगातार नोटिस भेजे जा रहे थे। निगम अधिकारियों की मानें तो अब तक यह टैक्स बढ़कर 8 लाख रुपये हो गया है। कई बार राज्य सरकार की ओर से टैक्स भुगतान में प्रोपर्टी मालिकों की ओर से टैक्स व उसके ब्याज में बड़ी छूट देने का भी ऐलान किया गया। मगर मालिक ने इस छूट का फायदा नहीं उठाया। पिछले दिनों ही मालिक को सीलिंग का नोटिस भेजा गया था। फिर भी उसकी ओर से आठ लाख रुपये के भुगतान में दिलचस्पी नहीं दिखाई गई।

पूरे अमले के साथ रिजॉर्ट पहुंचे अधिकारी

सोमवार को रिजॉर्ट के खिलाफ कार्रवाई के लिए निगम अधिकारी पूरे अमले के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस के साथ यहां आए अधिकारियों ने पहले मालिक रोहित जैन से मुलाकात की। उन्हें कार्रवाई के बारे में अवगत करवाया गया। कार्रवाई से पहले उन्हें टैक्स के भुगतान करने का आग्रह किया। मगर सहमति न बनने के बाद अधिकारियों ने रिजॉर्ट को सील करने की कार्रवाई की। निगम की ओर से रिजॉर्ट के मुख्य गेट पर पक्की सील लगा दी। मालिक को साफ कहा कि अगर जबरन सील को खोलने का प्रयास किया तो फिर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

22 करोड़ रुपये का टैक्स बकाया

अभी नगर निगम का 22 करोड़ रुपये का प्रोपर्टी टैक्स बकाया है। निगम को यह टैक्स 92 हजार प्रोपर्टी मालिकों से जुटाना है। इसी वजह से मालिकों को निगम की ओर से लगातार नोटिस भेजे जा रहे हैं। पिछले कई दिनों से निगम मालिकों के खिलाफ सीलिंग की कार्रवाई कर रहा है। हालांकि कार्रवाई के डर से काफी मालिक बकाया टैक्स जमा करवा चुके हैं।

Next Story