Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत, अस्पताल में हंगामा

नंगल गांव की 28 वर्षीय सुनीता बुधवार सुबह प्रसव के लिए रतिया के निजी अस्पताल में आई थी। परिजनों का आरोप है कि समय पर डिलीवरी ना करने के कारण सुनीता और बच्चे की मौत हो गई।

प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत, अस्पताल में हंगामा
X

 अस्पताल के बाहर हंगामा करते परिजन।

हरिभूमि न्यूज. रतिया ( फतेहाबाद )

गांव नंगल में अपने मायके डिलीवरी कराने आई गर्भवती महिला व उसके गर्भ में बच्चे की प्रसव के दौरान टोहाना रोड स्थित निजी अस्पताल में मौत हो गई। इस पर परिजनों में रोष फैल गया और उन्होंने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया और डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया। पुलिस ने मृतक सुनीता के भाई हरदीप के बयान पर अस्पताल संचालकों के खिलाफ लापरवाही से मौत सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार नंगल गांव की 28 वर्षीय सुनीता का विवाह संगा जिला मानसा निवासी वकील के साथ 7 वर्ष पूर्व हुआ था। 5 वर्ष पूर्व सुनीता को बेटी हुई थी तथा दोबारा सुनीता अपनी दूसरी डिलीवरी करवाने कुछ दिन पहले अपने गांव नंगल आई थी। बुधवार सुबह प्रसव पीड़ा के बाद सुनीता के परिजन टोहाना रोड स्थित थिंद अस्पताल में लेकर आए थे। मृतक सुनीता के भाई हरदीप व परिजनों का आरोप है कि समय पर डिलीवरी ना करने के कारण सुनीता व उसके पेट में पल रहे बच्चे की मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन ने आनन-फानन में उन्हें बताए बताए उसकी बहन को एक वाहन में डालकर पीछे के दरवाजे से फतेहाबाद रोड स्थित निजी अस्पताल में भिजवा दिया, जहां मौजूद डॉक्टरों ने उसकी बहन सुनीता को मृत घोषित करते हुए हमें बताया कि आपकी बहन मृत अवस्था में हमारे पास पहुंची थी। इसके पश्चात सुनीता के परिजन टोहाना रोड स्थित उक्त अस्पताल पहुंचे और अस्पताल के बाहर जोरदार हंगामा शुरू कर दिया। अस्पताल संचालक वहां से चली गई, जिस पर परिजनों में गुस्सा और बढ़ गया और कई युवक अस्पताल के अंदर घुसने लगे। सूचना मिलने पर भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा और परिजनों को समझा-बुझाकर अस्पताल के बाहर निकाला। काफी देर बाद पुलिस और लोगों के समझाने पर उक्त लोग शांत हुए और मांग की है कि अस्पताल के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए। पुलिस के ठोस कार्रवाई के आश्वासन के बाद परिजन अस्पताल के बाहर से चले गए और पुलिस ने अस्पताल को बंद करके उसके बाहर पुलिस बल तैनात कर दिया। शहर थाना अध्यक्ष रुपेश चौधरी ने बताया कि मृतका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाने के लिए अग्रोहा मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया है और मृतक के भाई हरदीप के बयानों के आधार पर मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।


Next Story