Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चंडीगढ़ की तर्ज पर तैयार होगा कलायत की निकासी का मॉडल

एसडीएम डा.संजय कुमार की रहनुमाई में जो प्रारूप तैयार करने पर विमर्श हुआ उससे लोगों के लिए जटिल समस्या बनी सीवरेज प्रणाली को सुदृढ़ किया जाएगा।

चंडीगढ़ की तर्ज पर तैयार होगा कलायत की निकासी का मॉडल
X

रणबीर धानियां :कलायत। कलायत नगर को पानी निकासी की समस्या के जंजाल से बाहर निकालने के लिए कलायत उप मंडल प्रशासन ने हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ की तर्ज पर निकासी का माडल तैयार करने का निर्णय लिया है।

जिला और कलायत प्रशासन सांझा कार्यक्रम चलाएगा। इसके मूर्त रूप लेने से सीवरेज प्रणाली वेंटिलेटर पर सांस नहीं लेगी। कलायत एसडीएम डा.संजय कुमार की रहनुमाई में नगर में आयोजित बैठक में इस महत्वपूर्ण विषय पर व्यापक चर्चा हुई।

इसमें नगर पालिका चेयरपर्सन प्रतिनिधि सलिंद्र प्रताप राणा, नगर पार्षद आर.एस.धानियां, महिला पार्षद प्रतिनिधि बी.डी.बंसल, सिंचाई विभाग कार्यकारी अभियंता बनारसी दास जागलान, एसडीओ तरसेम गर्ग, जन स्वास्थ्य विभाग कार्यकारी अभियंता एम.एस.राणा, एसडीओ सुरंेद्र कुमार, कनिष्ठ अभियंता अजय ढुल, विभिन्न विभागों के अधिकारी और किसानों ने सुझाव रखे। पेयजल और निकासी विभाग से जुड़े विभिन्न विभागों ने सांझे कार्यक्रम में कदम से कदम मिलाकर चलने का निर्णय लिया।

एसडीएम डा.संजय कुमार की रहनुमाई में जो प्रारूप तैयार करने पर विमर्श हुआ उससे लोगों के लिए जटिल समस्या बनी सीवरेज प्रणाली को सुदृढ़ किया जाएगा। इससे न केवल कृषि जगत को बड़ा लाभ पहुंचेगा बल्कि आवासीय क्षेत्र में निकासी के संकट का अध्याय समाप्त होगा। जो कार्ययोजना तय की जा रही है उसके तहत सीवरेज पानी के शुद्धीकरण के लिए अनाज मंडी में जन स्वास्थ्य विभाग एसटीपी के नजदीक करीब पांच एकड़ रकबे में विशेष तरह के टैंक बनाए जाएंगे।

इनमें पानी का शुद्धीकरण कर पर्यावरण प्रदूषण से मानवीय जीवन को बचाया जाएगा। इस पानी को निथारकर किसानों के प्यासे खेतों की सिंचाई की जाएगी। समस्या आने पर ये टैंक कृषि और आवासीय क्षेत्र के लिए वरदान का काम करेंगे। सुचारु रूप से निथारे गए पानी को निर्धारित स्थान पर पहुंचाने के लिए करीब तीन किलोमीटर लंबी लाइन कपिल मुनि डे्रन के अंदर से बिछाई जाएगी। इससे ड्रेन ओवर फ्लो होने के झमेले से किसानों को निजात मिलेगा।

Next Story