Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा सचिवालय में विधायकों को मिलेगा विशेष कमरा

जिसमें बैठकर गूफ्तगू करने, कंप्यूटर पर कोई काम करने, प्रिंट लेने के साथ-साथ एक सेवादार चाय पानी पिलाने के लिए होगा।

हरियाणा सचिवालय में विधायकों को मिलेगा विशेष कमरा
X

मुख्यमंत्री मनोहर लाल

चंडीगढ़। प्रदेशभर के विभिन्न हिस्सों से हरियाणा सचिवालय आने वाले माननीय विधायकों के लिए एक राहतभरी खबर है। विधायकों को आने वाले समय में हरियाणा सचिवालय में आने पर बैठने के लिए इधर से उधर भटकना नहीं होगा, बल्कि उनको जल्द ही सचिवालय में एक कमरा दे दिया जाएगा।

जिसमें बैठकर गूफ्तगू करने, कंप्यूटर पर कोई काम करने, प्रिंट लेने के साथ-साथ एक सेवादार चाय पानी पिलाने के लिए होगा। यह अहम सुझाव और फीडबैक हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने विधायकों की ओर से लगातार की जा रही मांग को देखते हुए सूबे के मुख्यमंत्री मनोहरलाल को दिया था।

यहां पर उल्लेखनीय है कि राज्यभर से सभी विधायक अपने अपने हलके के लोगों के काम कराने, अफसरों, मंत्रियों से मिलने के लिए अक्सर चंडीगढ़ में आते हैं। हरियाणा सचिवालय के किस भी फ्लोर पर विधायकों के बैठने, प्रतीक्षा करने के लिए कोई स्थान नहीं है।

उनके पास में एक ही विकल्प है कि वे किसी मंत्री अथवा उनके स्टाफ पीए, पीएस के पास में बैठकर इंतजार करें। कईं बार मंत्रियों का स्टाफ नहीं होने पर मंत्रियों के आफिस भी स्टाफ द्वारा बंद रखे जाते हैं। जिस कारण से विधायकों को इधर-उधर भटकते हुए देखा जा सकता है।

विधायकों की ओर से इस संबंध में अपनी पीड़ा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता के सामने रखी गई थी। इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष ने सीएम के सामने बात रखते हुए अफसरों से भी सचिवालय में एक प्रतीक्षा कक्ष उपलब्ध कराने की अपील की थी। लेकिन काफी समय से इस पर अमल नहीं हुआ।

बीती शाम को सीएम ने देखे फ्लोर और कमरे

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने सभी विधायकों की तकलीफ को देखते हुए और विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता की ओर से मिले फीडबैक के बाद में अफसरों को विधायकों के लिए कमरे की व्यवस्था करने के लिए कहा था।

गुरुवार की शाम को इसी क्रम में हरियाणा सचिवालय में पूरा अलर्ट था क्योंकि सीएम खुद आठवें फ्लोर, सातवें फ्लोर सहित कईं स्थानों पर अफसरों के साथ में घूमे व कईं कमरों को देखा। सूत्र बता रहे हैं कि विधायकों के बैठने का कमरा सीएम खुद देखने गए थे।

Next Story