Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विधायक धर्म सिंह छोक्कर खुलकर बोले- उन पर आयकर विभाग की छापेमारी का कोई असर नहीं पड़ता

विधायक ने कहा कि उनके व उनके बेटों द्वारा जो भी बिजनेस किया जाता है सभी ऑन रिकॉर्ड है। और कोई भी जांच टीम किसी भी समय आकर उनसे कोई भी सवाल जवाब कर सकती है।

MLA Dharam Singh Chhokar
X

समर्थकों के साथ समालखा के कांग्रेसी विधायक धर्म सिंह छोक्कर। 

समालखा : आयकर विभाग रेड के बाद विधायक धर्म सिंह छोक्कर पहली बार रविवार को समालखा स्थित अपनी कोठी पर पहुंचे। जहां पहले से ही मौजूद सैकड़ों समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया। विधायक ने मीडिया से बात करते हुए कहा की उन पर आयकर विभाग की छापेमारी का कोई असर नहीं पड़ता। वह हर कार्य में सही है उन्होंने खुद विधानसभा के सत्र को छोड़कर विभाग की टीम को पूछताछ में सहयोग किया था ।

विधायक ने कहा कि उनके व उनके बेटों द्वारा जो भी बिजनेस किया जाता है सभी ऑन रिकॉर्ड है। और कोई भी जांच टीम किसी भी समय आकर उनसे कोई भी सवाल जवाब कर सकती है। विधायक ने कहा कि उनको पास हलके के समर्थकों की ताकत है और राजनीति में उनकी बढ़ते कद को देखकर ही उनके साथ जांच संबंधी हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि आयकर विभाग की टीम को उनके ठिकानों से कोई भी किसी भी तरह का कुछ नहीं मिला है। अगर आयकर विभाग की टीम के पास कुछ है तो उन्हें मीडिया के सामने लाना चाहिए।

विधायक ने कहा कि आईटी टीम का काम था जांच करना जिसमें उन्होंने स्वयं व उनके परिजनों ने टीम का पूरा सहयोग किया। विधायक धर्म सिंह छोक्कर ने तो अपने पक्ष में मीडिया को पूरी सफाई पेश की है। लेकिन आईटी विभाग द्वारा उनके ठिकानों पर की गई जांच के बारे में क्या खुलासा होता है या नहीं यह आने वाला समय ही बताएगा।

बता दें कि समालखा के कांग्रेसी विधायक धर्म सिंह छोक्कर के गुड़गांव स्थित आवास समालखा उनके कार्यालय, पेट्रोल पंप व उनकी कोठी सहित कई अन्य ठिकानों पर आयकर विभाग की टीम द्वारा बुधवार सुबह 6 बजे रेड मारी गई थी। आयकर विभाग की टीम ने उनके परिजनों व उनके संस्थानों में काम कर रहे कर्मचारियों से गरीब 60 घंटे पूछताछ करने के बाद अपनी कार्रवाई पूरी की थी। कार्रवाई के बाद आयकर विभाग के अधिकारियों ने जांच संबंधी कोई भी बात मीडिया के सामने नहीं रखी और उन्होंने गुडगांव स्थित कार्यालय से मीडिया को जांच संबंधी जानकारी देने के लिए कहा था। लेकिन उनके द्वारा कोई भी जानकारी नहीं दी गई। सूत्रों की अगर मानें तो आयकर विभाग की टीम को विधायक के कई ठिकानों से प्रॉपर्टी ,बैंक व लोगों के साथ लेनदेन संबंधी दस्तावेज मिले थे। लेकिन विभागीय अधिकारियों द्वारा आज तक इसकी पुष्टि नहीं की गई। रेड के बाद मीडिया द्वारा विधायक के परिजनों से भी बातचीत की गई लेकिन उन्होंने कोई भी जानकारी देने से मना करते हैं कहा कि पूरी जानकारी विधायक ही देंगे।

Next Story