Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Cyber Fraud : बधाई हो आपका लोन स्वीकृत हो गया है... इस तरह के मैसेज पर भरोसा न करें, खाता हो सकता है खाली

आमजन की मेहनत की पूंजी पर हाथ साफ करने के लिए साइबर ठग कोई न कोई तरकीब निकालते रहते हैं। कोरोना काल में बिगड़े हालातों के कारण किसी की नौकरी गई तो किसी का व्यवसाय प्रभावित हो गया। बिगड़े हालातों से उबरने के लिए लोग लोन को लेकर बैंकों का रुख करने लगे। इसी का लाभ साइबर ठग उठा रहे हैं।

Cyber Fraud : बधाई हो आपका लोन स्वीकृत हो गया है... इस तरह के मैसेज पर भरोसा न करें, खाता हो सकता है खाली
X

Cyber Fraud 

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

बधाई हो आपका लोन स्वीकृत हो गया है। स्टेट्स जानने के लिए या खाते में राशि पाने के लिए लिंक पर क्लिक करें या फिर दस मिनट में लोन पाने के लिए एप डाउन लोड करें। साइबर ठगों द्वारा इन दिनों लोगों के पास कुछ ऐसे ही मैसेज भेजे जा रहे हैं। आपके पास भी इस तरह के मैसेज आ रहे हैं तो सावधान रहें। थोड़ी सी लापरवाही आपको आर्थिक नुकसान पहुंचा सकती है। साइबर एक्सपर्ट्स ने भी लोगों को इस तरह के झांसे में न आने की सलाह दी है।

दरअसल, आमजन की मेहनत की पूंजी पर हाथ साफ करने के लिए साइबर ठग कोई न कोई तरकीब निकालते रहते हैं। कोरोना काल में बिगड़े हालातों के कारण किसी की नौकरी गई तो किसी का व्यवसाय प्रभावित हो गया। बिगड़े हालातों से उबरने के लिए लोग लोन को लेकर बैंकों का रुख करने लगे। इसी का लाभ साइबर ठग उठा रहे हैं। लोगों की मजबूरी का फायदा उठाने के लिए साइबर ठगों द्वारा मोबाइलों पर मैसेज भेजे जा रहे हैं। शहर के निवासी मोनू के पास भी एक मैसेज आया। मोनू ने बताया कि उसने लोन के लिए किसी बैंक में आवेदन नहीं किया है, लेकिन शनिवार को उसके पास एक मैसेज आया। मैसेज में लिखा था कि बधाई हो आपका 90 हजार रुपये का लोन स्वीकृत हो गया है। नीचे दिए गए एक लिंक पर क्लिक कर स्टेट्स जानने के बारे में कहा गया। वह हैरान था, लेकिन फिर भी उसने लिंक पर क्लिक कर दिया।

क्लिक करते ही प्ले स्टोर खुल गया और डाउनलोड करने के लिए एक एप दिखाई दी। शंका हुई तो जिस नंबर से मैसेज आया, उस पर कॉल की। किसी से बात तो नहीं हुई, लेकिन ट्रूकॉलर में यह नंबर फ्रॉड नाम से सेव था। इसके बाद उसने बैंक में काम करने वाले अपने एक दोस्त से सलाह ली तो उसने कहा कि ये सब फ्रॉड है। बकौल मोनू, वह तो वारदात का शिकार होने से बच गया, लेकिन बहुत से भोले भाले लोग इन शातिरों का शिकार हो जाते होंगे। सरकार को इस तरफ कोई जरूरी कदम उठाना चाहिए, ताकि कोई वारदात न हो।

साइबर एक्सपर्ट जितेंद्र दलाल ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में साइबर ठगी की वारदात बढ़ी हैं। आमजन को इस तरफ जागरूक होने की जरूरत है। लिंक पर क्लिक करने या कोई फर्जी एप डाउनलोड करने पर व्यक्ति का मोबाइल शातिर लोगों के नियंत्रण में आ जाता है। इससे न केवल खातों में सेंध लगती है बल्कि मोबाइल में मौजूद फोटो-वीडियो आदि निजी डाटा भी चोरी हो जाता है। इसलिए झांसे में न आएं।

Next Story