Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

10 हजार में ही डोल गया ईमान : वैक्सीन लगाए बिना सर्टिफिकेट देने के लिए रिश्वत लेता MBBS डॉक्टर गिरफ्तार

विजिलेंस को शिकायत मिली थी कि एमबीबीएस डाक्टर कोरोना टीकाकरण के बाद का सर्टिफिकेट बिना टीकाकरण के जारी करने की एवज में रिश्वत की मांग कर रहा था। डाक्टर से इस बात की भी पूछताछ की जाएगी कि पहले भी वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट देने के नाम पर क्या रिश्वत ली गई है।

10 हजार में ही डोल गया ईमान : वैक्सीन लगाए बिना सर्टिफिकेट देने के लिए रिश्वत लेता MBBS डॉक्टर गिरफ्तार
X

रिश्वतखोर डाक्टर को ले जाती विजिलेंस टीम।

हरिभूमि न्यूज. सिरसा

कनाडा जाने के लिए पासपोर्ट पर वैक्सीनेशन की रिपोर्ट करवाने की एवज में एक चिकित्सक ( Doctor Arrested ) को विजिलेंस विभाग की टीम ने 10 हजार रुपये की रिश्वत ( Bribe ) लेते हुए रंगे हाथों काबू किया है। पुलिस ने चिकित्सक के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। डाक्टर से इस बात की भी पूछताछ की जाएगी कि पहले भी वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट देने के नाम पर रिश्वत ली गई है क्या। विजिलेंस को शिकायत मिली थी कि एमबीबीएस डाक्टर कोरोना टीकाकरण के बाद का सर्टिफिकेट बिना टीकाकरण के जारी करने की एवज में रिश्वत की मांग कर रहा था। दो युवक जिन्होंने विदेश जाना है उनसे 10 हजार रुपये की रिश्वत मांगी गई थी। युवक निखिल की शिकायत पर विजिलेंस टीम ने कार्रवाई करते हुए वीरवार शाम को हुडा डिस्पेंसरी से चिकित्सक इंद्रजीत को रिश्वत राशि सहित काबू कर लिया।

शिकायतकर्ता निखिल ने बताया कि वह अपने दोस्त के साथ पिछले शुक्रवार को हुडा डिस्पेंसरी में कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण करवाने पहुंचा था। डा. इन्द्रजीत ने उन्हें कहा कि वैक्सीन की कमी है। साथ ही टीकाकरण करवाने के बाद उन्हें नुकसान होगा। कई तरह की दिक्कतें आएंगी और उनकी मौत भी हो सकती है, इसलिए वे टीकाकरण न करवाएं। आरोप है कि डाक्टर ने उनसे बिना टीकाकरण करवाए सर्टिफिकेट जारी करने के लिए 5 हजार रुपये प्रति युवक मांगे। इसके बाद उन्होंने विजिलेंस को शिकायत दी। वीरवार को वे सर्टीफिकेट लेने पहुंचे और डा. इन्द्रजीत को रिश्वत राशि 10 हजार रुपये दी। इसके बाद विजिलेंस टीम ने छापेमारी कर डाक्टर को काबू कर लिया। विजिलेंस इंस्पेक्टर अनिल सोढ़ी ने बताया कि शिकायत पर डाक्टर इन्द्रजीत को रिश्वत राशि 10 हजार रुपये सहित रंगे हाथों काबू किया है। आगामी कार्रवाई की जा रही है।

Next Story