Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mausam Ki Jankari : हरियाणा के सभी जिलों में हुई बरसात, जानिये आगे कैसा रहेगा मौसम

बुधवार सुबह हरियाणा में वर्तमान मौसम प्रणाली से अधिकतर स्थानों का तापमान में बढ़ोतरी हुई थी जिसमें न्यूनतम तापमान 10-18 डिग्री सेल्सियस रहा और अधिकतम तापमान 17-23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

Mausam Ki Jankari
X

प्रतीकात्मक तस्वीर। 

बुधवार को मौजूदा सक्रिय मौसम प्रणाली वैस्टर्न डिस्टरबेंस से सुबह से ही बारिश का आगाज पहले हरियाणा के पश्चिमी जिलों सिरसा, फतेहाबाद, हिसार, भिवानी और महेंद्रगढ़ पर शुरू हो गया था और हल्की से मध्यम बारिश ने अपना रंग धीरे-धीरे दिखाना शुरू कर दिया। दोपहर तक मध्य हरियाणा के जिलों कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, रोहतक, झज्जर व रेवाड़ी आदि में हल्की से सामान्य बारिश होती रही और उसके बाद गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत, पानीपत, करनाल, यमुनानगर, अम्बाला और एनसीआर दिल्ली में हल्की तो कुछ स्थानों पर भारी बारिश और पर्वतीय क्षेत्रों में भारी मात्रा में हिमपात हुआ है।

राजकीय महाविद्यालय नारनौल के पर्यावरण क्लब के नोडल अधिकारी डाक्टर चंद्रमोहन ने बताया कि सम्पूर्ण मैदानी इलाकों पर बादलों ने डेरा जमा रखा है, और दोपहर बाद से बर्फीली हवाओं की वजह से आमजन को कड़ाके की ठंड अहसास होने लगा था। दिनभर बादलवाही और रुक-रुक कर बारिश होने से व ठंडी बर्फीली हवाओं से उत्तर पश्चिमी भारत के राज्यों में बड़े पैमाने पर कोल्ड -डे (ठंडा दिन) की स्थिति देखी जाएगी, यानि अधिकतम तापमान 16.0 डिग्री से नीचे दर्ज किया जाएगा। बुधवार सुबह हरियाणा में वर्तमान मौसम प्रणाली से अधिकतर स्थानों का तापमान में बढ़ोतरी हुई थी जिसमें न्यूनतम तापमान 10-18 डिग्री सेल्सियस रहा और अधिकतम तापमान 17-23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। सभी जिलों में हल्की से मध्यम बारिश हुई जिससे आमजन आग जलाकर अलावों में सिकता नजर आया।

किस जिले में कितनी बरसात

दोपहर बाद के आंकड़े के मुताबिक हिसार में 13.3 एमएम, भिवानी में 8.6 एमएम, महेंद्रगढ़ में 7.4 एमएम, रेवाड़ी और झज्जर में 6.3, कनीना में 5.0 एमएम नारनौल 4.5 एमएम महेंद्रगढ़ तहसील में 2.9 एमएम, सिरसा में 3.6 बारिश दर्ज की गई। गुरुवार को हरियाणा के सभी जिलों के तापमान में गिरावट दर्ज होगी और कड़ाके की ठंड अपना तीखे तेवर दिखाएगी। वर्तमान में लगातार नए बादलों के निर्माण से हरियाणा में रात को भी लगातार बारिश की गतिविधियां देखने को मिलेंगी। हरियाणा एनसीआर के वातावरण में बारिश की गतिविधियों से वातावरण में नमी की मात्रा बढ़ गई है।

आगे बढ़ेगा कोहरा, वाहन चालकों और किसानों के लिए निर्देश

आने वाले दिनों में कोहरा की मात्रा में बढ़ोतरी होगी वाहन चालकों को सर्दी के मौसम में अपने वाहनों को चलाते समय अतिरिक्त सावधानी बरतने और यातायात से संबंधित कुछ जरूरी हिदायतों का पालन करने की सलाह दी जाती है। जो समय-समय पर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन देते रहते हैं। उनका कड़ाई से पालन करना चाहिए। गुरुवार को भी संपूर्ण हरियाणा राज्य और एनसीआर दिल्ली पर बादल छाए रहने और अलग-अलग स्थानों बिखराव वाली हल्की बारिश होने की संभावना है। सात जनवरी को एक नया ताकतवर वैस्टर्न डिस्टरबेंस सक्रिय मौसम प्रणाली उत्तरी पर्वतीय क्षेत्रों से भारत में प्रवेश करने वाला है जिसकी वजह से मैदानी राज्यों में विशेषकर हरियाणा, एनसीआर दिल्ली, पंजाब में सामान्य से तीव्र बारिश की गतिविधियां देखने को मिलेगी। यह बारिश किसानों की फसलों के लिए अमृत समान है, जिसके कारण से कृषकों के चेहरे पर खुशी है। उन्हें सलाह दी जाती है कि अभी सिंचाई और कैमिकल छिड़काव न करें।

और पढ़ें
Next Story