Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मनेठी एम्स : जमीन देने वालाें को ही मिलेंगे एसओपी, देखें किन गांवों को होगा फायदा

ग्रामीण नक्शा पास करवाने के बाद सोसायटी का गठन कर एसओपी में निर्माण कार्य स्वयं भी करवा सकते हैं या फिर एचएसआईआईडीसी से एसओपी विकसित करवा सकते हैं। इसके लिए ग्रामीणों पर किसी प्रकार की कोई शर्त नहीं थोंपी जाएगी।

मनेठी एम्स : जमीन देने वालाें को ही मिलेंगे एसओपी, देखें किन गांवों को होगा फायदा
X

बैठक कर एम्स निर्माण पर चर्चा करते ग्रामीण व अधिकारी।

हरिभूमि न्यूज. रेवाड़ी

एम्स के लिए जमीन देने वाले किसानों को ही एसओपी अलाट की जाएगी। ग्रामीण नक्शा पास करवाने के बाद सोसायटी का गठन कर एसओपी में निर्माण कार्य स्वयं भी करवा सकते हैं या फिर एचएसआईआईडीसी से एसओपी विकसित करवा सकते हैं। इसके लिए ग्रामीणों पर किसी प्रकार की कोई शर्त नहीं थोंपी जाएगी। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह के निजी सचिव रवि यादव ने कहा कि राव इंद्रजीत सिंह ने जनता से किया अपना वादा पूरा किया है तथा एम्स का बनना हम सभी के लिए गौरव की बात है।

इससे पहले सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने अधिकारियों व ग्रामीणों ने एम्स निर्माण की प्रक्रिया शुरू करने के लिए सभी औपचारिकताएं जल्द से जल्द पूरी करने को कहा, ताकि निर्माण कार्य जल्द शुरू करवाया जा सके। वीरवार को एम्स निर्माण को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों व ग्रामीणों की संयुक्त बैठक लोकनिर्माण विश्रामगृह में बुलाई गई थी। बैठक में डीसी यशेन्द्र सिंह, एसडीएम रेवाडी रविन्द्र यादव, नायब तहसीलदार अजय उपस्थित रहे।

इन्हें होगा फायदा

मनेठी-माजरा में एम्स निर्माण होने से रेवाड़ी के अलावा महेंद्रगढ़, चरखी दादरी, भिवानी, झूंझनू, अलवर इत्यादि जिले के लोगों को लाभ मिलेगा। निमराना, भिवाडी व बावल में कम्पनियों में कार्य करने वाले लाखों लोगों को भी इसका फायदा होगा।

Next Story