Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गेहूं की फसल को मंडूसी ने जकड़ा, किसान हुए परेशान

हर वर्ष की तरह इस बार भी मंडूसी नामक खरपतवार ने गेहूं की फसल को जकड़ लिया है। कहीं-कहीं पर तो फसल में यह खरपतवार बहुत अधिक उगा हुआ है। मंडूसी की रोकथाम के लिए कई किसानों द्वारा दो-दो बार खरपतवारनाशक दवाओं का छिडकाव किया जा चुका है।

गेहूं की फसल को मंडूसी ने जकड़ा, किसान हुए परेशान
X

मंडूसी की रोकथाम के लिए गेहूं की फसल में दवा का छिडकाव करते हुए गांव धनाना का एक किसान। फोटो : हरिभूमि

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत (गोहाना)

गेहूं की फसल में मंडूसी नामक खरपतवार उगने से किसान चिंतित हैं। मंडूसी के कारण किसानों को गेहूं की फसल की पैदावार पर विपरित असर पड़ने की भी चिंता सता रही है। किसानों का कहना है कि मंडूसी की रोकथाम के लिए किसानों को महंगे खरपतवारनाशकों का छिडकाव करना पड़ रहा है जिससे उन पर भारी आर्थिक मार पड़ रही है।

गेहूं क्षेत्र की मुख्य फसल है। उपमंडल गोहाना क्षेत्र के किसानों द्वारा इस बार लगभग 60 हजार हेक्टेयर भूमि पर गेहूं की फसल उगा रखी है। गांव धनाना निवासी किसान मोनू, अशोक, महावीर, राजेश और अशोक का कहना है कि हर वर्ष की तरह इस बार भी मंडूसी नामक खरपतवार ने गेहूं की फसल को जकड़ लिया है। कहीं-कहीं पर तो फसल में यह खरपतवार बहुत अधिक उगा हुआ है। मंडूसी की रोकथाम के लिए कई किसानों द्वारा दो-दो बार खरपतवारनाशक दवाओं का छिडकाव किया जा चुका है। गांव बनवासा गांव के किसान रविन्द्र नरवाल, प्रदीप नरवाल और संजय के अनुसार मंडूसी के कारण गेहूं की फसल का रंग भी पीला पड़ने लगा है और फसल के पौधों का पूर्ण विकास नहीं हो पा रहा है। ऐसे में फसल की पैदावार पर विपरित असर पड़ सकता है। किसानों के अनुसार गेहूं की फसल मेें कहीं-कहीं पर मोथा और बथुआ भी उगा हुआ है।


गेहूं की फसल में मंडूसी खरपतवार की रोकथाम के लिए कृषि विश्वविद्यालय हिसार द्वारा सिफारिश किए गए खरपतवारनाशकों का छिडकाव करें। खरपतवारनाशक का छिडकाव साफ मौसम में करें और फ्लैटफैन नोजल का इस्तेमाल करें। फसल में जिस भी खरपतवार का छिडकाव करें उसकी व पानी की मात्रा पूरी होनी चाहिए। -डा. राजेंद्र प्रसाद मेहरा, एएसडीओ गोहाना

Next Story