Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

माजरा एम्स : रजिस्ट्री के लिए सरकार और प्रशासन दोनों तैयार, किसानों की मागें स्वीकार

एम्स निर्माण के लिए गठित समिति के पदाधिकारियों ने सोमवार को डीसी अशोक कुमार गर्ग और डीडीपीओ एचपी बंसल के साथ बैठक कर, जमीनों की रजिस्ट्री से संबंधित सभी पहलुओं पर चर्चा की।

माजरा एम्स : रजिस्ट्री के लिए सरकार और प्रशासन दोनों तैयार, किसानों की मागें स्वीकार
X

रेवाड़ी। डीसी से मीटिंग के बाद जिला सचिवालय से बाहर आते एम्स समिति के पदाधिकारी।

हरिभूमि न्यूज. रेवाड़ी

एम्स के लिए प्रस्तावित जमीन सरकार के नाम कराने की प्रक्रिया शुरू होने का इंतजार इसी सप्ताह खत्म हो जाएगा। प्रदेश सरकार से लेकर प्रशासन तक जमीनों की रजिस्ट्री के लिए पूरी तरह से तैयार है। कुछ किसानों के निर्माण की मुआवजा राशि नए सिरे से तय करने के बाद रजिस्ट्रियों का कार्य शुरू हो जाएगा। एम्स निर्माण के लिए गठित समिति के पदाधिकारियों ने सोमवार को डीसी अशोक कुमार गर्ग और डीडीपीओ एचपी बंसल के साथ बैठक कर, जमीनों की रजिस्ट्री से संबंधित सभी पहलुओं पर चर्चा की।

किसानों के साइन किए हुए इंटेंट लेटर और सहमति पत्र प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य शिक्षा एवं चिकित्सा निदेशालय के पास पहुंच जाने के बाद जमीनों की रजिस्ट्री के लिए सहमति प्रदान की जा चुकी है। निदेशालय की ओर से 811 इंटेंट लेटर्स भेजे गए थे, जिन पर गांव में मौजूद किसानों के साइन हो गए थे। बचे हुउ लेटर्स पर रजिस्ट्री के समय ही साइन करा लिए जाएंगे। इसके लिए निदेशालय स्तर पर स्वीकृति प्रदान कर दी गई थी। करीब 28 एकड़ जमीन के तबादले का केस भी निपट चुका है। इसके बाद प्रशासन की ओर से जमीन की रजिस्ट्रियों से संबंधित सभी औपचारिकताओं को तेजी से पूरा किया जा रहा है।

रजिस्ट्रियों का कार्य शुरू कराने से पहले समिति यह चाहती है कि जिन किसानों के खेतों में मकान बने हुए हैं, उनमें से कुछ के मकानों की मुआवजा रिाश का निर्धारण नए सिरे से कराया जाए। इससे उन्हें मकानों का पर्याप्त मुआवजा मिल सकेगा। डीसी के साथ मीटिंग ने गत वर्ष 23 अक्टूबर में हुई चंडीगढ़ में जो मांगे रखी थीं, उन्हें दोहराया गया। सरकार और डीसी दोनों की तरफ से उनकी सभी मांगों को स्वीकार कर लिया गया है। अब एक दो-दिन में मकानों के मुआवजा निर्धारित करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

समिति ने जताया सीएम और मंत्रियों का आभार

डीसी और डीडीपीओ से मिलने पहुंचे एम्स संघर्ष समिति के प्रधान जगदीश यादव, मनजीत ठेकेदार, राजबीर ठेकेदार, दिलबाग सिंह, रवींद्र यादव, जेजेपी के युवा जिलाध्यक्ष विपिन यादव, जीतू चेयरमैन, विनोद, कुलदीप, कोषाध्यक्ष दिलबाग व विकास आदि ने कहा कि माजरा एम्स केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह और प्रदेश के कैबिनेट मंत्री डा. बनवारीलाल का सपना है। सीएम मनोहरलाल खुद एम्स निर्माण को लेकर पूरी तरह गंभीर हैं। इन सभी की बदोलत एम्स निर्माण के संबंध प्रक्रिया तेजी से बढ़ना शुरू हुई हैं। उन्होंने कहा कि वह और पूरा गांव इसके लिए उनका आभारी है। उन्होंने कहा कि डीसी अशोक कुमार गर्ग ने जिले का पदभार संभालने के बाद जमीनों की रजिस्ट्री प्रक्रिया शुरू कराने और चंडीगढ़ से इंटेंट को स्वीकृति दिलाने में सराहनीय भूमिका निभाई है। उन्हीं के प्रयासों से कई अटके हुए मामलों को सुलझा लिया गया है।

सरकार और प्रशासन दोनों रजिस्ट्री कार्य शुरू कराने के लिए तैयार हैं। किसानों के कुछ मकानों के दोबारा सर्वे की मांग की गई है। यह कार्य जल्द कराने के बाद जमीनों की रजिस्ट्री का कार्य भी शुरू हो जाएगा। इसके लिए सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। एक सप्ताह में रजिस्ट्री कार्य पूरा होने की संभावना है। -अशोक कुमार गर्ग, डीसी।

और पढ़ें
Next Story