Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पहले दी वृद्धा महिला को लिफ्ट, सोने की बालियां झपट फेंक दिया बाहर

अस्पताल में उपचाराधीन वृद्धा शांति देवी ने बताया कि दोपहर को अपनी बेटी मीरा रानी तथा दोहती बबीता रानी के साथ नए बस स्टैंड के बाहर गांव अलीका को जाने के लिए बस का इंतजार कर रही थी।

पहले दी वृद्धा महिला को लिफ्ट, सोने की बालियां झपट फेंक दिया बाहर
X

हरिभूमि न्यूज. रतिया। शहर के नए बस स्टैंड पर बस का इंतजार कर रही वृद्धा व परिवार की 2 अन्य महिलाओं को एक युवक व तीन अन्य महिलाओं द्वारा कार में लिफ्ट देने के बहाने वृद्धा के कानों से सोने की बालियां झपटने तथा विरोध करने पर हाथापाई कर कार से नीचे फैंक कर फरार होने का मामला प्रकाश में आया है।

घायल महिला को अत्यधिक चोट लगने के कारण उसे अग्रोहा रेफर किया गया है। अस्पताल में उपचाराधीन वृद्धा शांति देवी ने बताया कि दोपहर को अपनी बेटी मीरा रानी तथा दोहती बबीता रानी के साथ नए बस स्टैंड के बाहर गांव अलीका को जाने के लिए बस का इंतजार कर रही थी। इसी दौरान उनके आगे एक कार आकर रुक गई। उपरोक्त कार में चालक के अलावा 3 अन्य महिलाएं सवार थी।

वृद्धा ने बताया कि कार सवार लोगों ने बताया कि वह भी गांव अलीका की तरफ जा रहे हैं और उन्हें रास्ते में उतार देंगे। वृद्धा शांति देवी ने बताया कि कार में सवार उपरोक्त महिलाओं ने उन्हें बातों में लगा लिया और बाद में गांव अलीका तक लिफ्ट देने के लिए अपनी कार में बिठा लिया। महिला ने बताया कि शहर से कुछ दूरी निकलने के पश्चात गांव लाली के समीप इन लोगों ने कार को रोक लिया और महिलाओं ने जबरन उसके दोनो कानों की बालियां झपट ली और उसे जबरन कार से नीचे उतार दिया।

इस दौरान जब उसकी बेटी मीरा रानी ने उक्त महिलाओं का विरोध किया तो उसे काफी दूर तक कार में ले गए और बाद में उससे हाथापाई करते हुए कार में धक्का देकर नीचे उतार दिया और गाड़ी को लेकर फरार हो गए। इस हाथापाई के दौरान उसकी बेटी के दोनों हाथों पर गहरी चोट भी लग गई।

वृद्धा ने बताया कि जब उपरोक्त घटना को लेकर शोर मचाया तो आसपास के लोग एकत्रित हो गए और उन्होंने न केवल पुलिस को सूचना दे दीए बल्कि एंबुलेंस के सहयोग से सरकारी अस्पताल में भी दाखिल करवा दिया। इस घटना में मीरा रानी की हालत गंभीर होने के कारण चिकित्सकों ने उसे अग्रोहा रेफर कर दिया।

Next Story