Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलिस को जादू से मिली कई जानकारी, अब साइबर सैल करेगी मदद, पढ़ें पूरा मामला

पुलिस ने आरोपित से बरामद किए दो मोबाइलों में बने वाट‍्सएप ग्रुपों की भी जांच शुरू की, ग्रुपों में जुड़े सदस्य हुए परेशान गिरफ्तारी के भय से बदले ठिकाने।

पुलिस को जादू से मिली कई जानकारी, अब साइबर सैल करेगी मदद, पढ़ें पूरा मामला
X

एसआईटी टीम द्वारा पकड़ा गया रैकी ग्रुप का सरगना अमन उर्फ जादू। फाइल फोटो

हरिभूमि न्यूज. रादौर ( यमुनानगर )

जिला एसआईटी की टीम द्वारा जठलाना क्षेत्र से गिरफ्तार किए गए अधिकारियों की रैकी करने के ग्रुप के सरगना अमन उर्फ जादू से पूछताछ में अहम जानकारियां मिली हैं। पुलिस ने आरोपित से मिली जानकारियों के आधार पर उससे बरामद किए गए दो मोबाइल फोनों में बने व्हाटसअप ग्रूपों की जांच शुरु कर दी है। इस जांच में साइबर सैल की मदद ली जा रही है। मामले की जांच कर रही पुलिस ने उम्मीद जताई कि जांच में आरोपित से जुड़े सदस्यों के बारे में पता चलने की उम्मीद है।

मामले की जांच कर रहे थाना जठलाना प्रभारी धर्मपाल ने बताया कि पुलिस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है। क्योंकि यह मामला अधिकारियों की सुरक्षा से भी जुड़ा हुआ है। अमन में पास से दो मोबाईल फोन बरामद हुए हैं। जिनकी जांच के लिए साइबर सैल की मदद ली जा रही है। आरोपित द्वारा बनाए गए व्हाट्सअप ग्रुपों में कितने लोग शामिल हैं और वह किस किस से बातचीत करता था, इसकी कॉल डिटेल भी निकलवाई जा रही है। जिसके बाद इस खेल में उसके साथ शामिल लोगों तक भी पहुंचा जाएगा। थाना प्रभारी ने बताया कि पूछताछ़ के दौरान अमन ने कबूल किया है कि वह काफी समय से इस कार्य को अंजाम दे रहा है और ग्रुपों के माध्यम से अधिकारियों की लोकेशन शेयर करता था। जिसकी एवज में वह वाहन चालकों से 1500 से 2500 रुपये प्रतिमाह वसूल कर रहा था। उन्होंने बताया कि आरोपित पहले भी एक मामले में अंतरिम जमानत पर चल रहा है।

आरोपित जुड़े लोगों के छूट रहे पसीने

एसआईटी की टीम द्वारा जब से अमन उर्फ जादू को गिरफ्तार किया है। तब से उसके साथ जुड़े लोगों में खलबली मची हुई है। ऐसे लोग पुलिस कार्रवाई की पल पल की जानकारी रख रहे हैं और उन्होंने गिरफ्तारी के भय से अपने ठिकाने भी बदल लिए हैं।

यह था मामला

जिले के जठलाना क्षेत्र में लंबे समय से ओवरलोडिड वाहनों को लाभ पहुंचाने के लिए अधिकारियों की रैकिंग की जा रही थी। जैसे ही अधिकारी ओवरलोडिड वाहनों को पकड़ने पहुंचते थे, इससे पहले वाहन चालकों को अधिकारियों के पहुंचने का पता चल जाता था। बृहस्पतिवार को एसआईटी की टीम ने रैकी ग्रुप के सरगना अमन उर्फ जादू को गिरफ्तार किया था।

Next Story