Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लास्ट स्टेज कैंसर मरीज का बीमा करवाकर साल में मौत हो जाने पर करते थे क्लेम

पुलिस मामले की तह तक जाने का प्रयास कर रही हैं। गिरोह के अन्य सदस्यों की भी तलाश की जा रही है। गिरोह 2012 से काम कर रहा था। ऐसी जानकारियां आरोपित से पूछताछ में मिली हैं।

लास्ट स्टेज कैंसर मरीज का बीमा करवाकर साल में मौत हो जाने पर करते थे क्लेम
X

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

फर्जी तरीके से मरीजों का बीमा करवा कर क्लेम लेने वाले गिरोह के निशाने पर ज्यादातर कैंसर मरीज थे। गिरोह के सदस्य अलग अलग जिलों में फैले हुए थे। वह कैंसर के ऐसे मरीजों की तलाश करते थे जो लास्ट स्टेज पर होते थे ताकि उनका बीमा करवा एक साल के अंदर ही क्लेम वसूला जा सके। गिरोह 2012 से काम कर रहा था। ऐसी जानकारियां आरोपित से पूछताछ में मिली हैं।

पुलिस मामले की तह तक जाने का प्रयास कर रही हैं। गिरोह के अन्य सदस्यों की भी तलाश की जा रही है। मामले के अनुसार, गिरोह के सदस्यों ने सुनारियां और मोखरा के दो व्यक्तियों का बीमा करवा कर क्लेम पास करवाया था। जिसके बाद कंपनी को शक हुआ और पुलिस को शिकायत दी गई। जांच में पता चला कि 2016 में मोखरा के एक व्यक्ति का बीमा करवाया गया था। एक वर्ष बाद उसकी मौैत हो गई थी। इसके लिए करीब पांच लाख 84 हजार का क्लेम लिया गया था। इसके अलावा गांव सुनारियां में एक महिला का बीमा करवा कर उसकी मौत होने पर क्लेम लिया गया था। इसके अलावा पुलिस की पूछताछ में सलीम से काफी जानकारियां मिली। सलीम का नेटवर्क हरियाणा दिल्ली समेत यूपी में फैला हुआ है। वह अब तक करीबन तीन सौ लोगों का बीमा करवा चुका है। जिसमें ज्यादातर ऐसे व्यक्ति हैं जिनको गम्भीर बीमारी हैं। गिरोह में कई पुलिस कर्मचारी, डॉक्टर भी संलिप्त हैं।

आरोपितों की तलाश जारी

बीमा कंपनी के अधिकारी की शिकायत पर तीनों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। मोखरा में जाकर जांच पड़ताल की गई। मरने वाले व्यक्ति की मौत का कारण स्पष्ट नहीं है और उसका पोस्टमार्टम भी नहीं करवाया गया था। ग्रामीणोें ने बताया कि उसे हार्ट अटैक हुआ था। मामले की जांच पड़ताल चल रही है। आरोपितों की तलाश चल रही है। -श्रीभगवान, एसएचओ बहुअकबरपुर थाना

Next Story