Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Meri Fasal Mera Byora Portal : मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण करवाने में कुरुक्षेत्र प्रथम

डीसी ने कहा कि इस प्रकार कुरुक्षेत्र में 56194 किसानों ने 310944 एकड़ जमीन पर लगने वाली फसलों का पंजीकरण करवा कर हरियाणा प्रदेश में प्रथम स्थान हासिल किया है। इस जिला में पोर्टल पर पंजीकरण करने का 87 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है।

Meri Fasal Mera Byora Portal : मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर  पंजीकरण करवाने में कुरुक्षेत्र प्रथम
X

कुरुक्षेत्र : वीडियो कांफ्रेंसिग के दौरान मौजूद उपायुक्त मुकुल कुमार व अन्य अधिकारी।

हरिभूमि न्यूज. कुरुक्षेत्र

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर किसानों की फसलों का पंजीकरण करवाने में कुरुक्षेत्र हरियाणा राज्य में प्रथम स्थान पर पहुंच गया है। इस समय पोर्टल पर कुरुक्षेत्र के 56194 किसानों ने अपनी फसलों का पंजीकरण करवा लिया है। इस जिला में पोर्टल पर पंजीकरण करवाने का 87 प्रतिशत कार्य पूरा कर लिया गया है। इस उपलब्धि पर मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. अमित अग्रवाल ने उपायुक्त मुकुल कुमार व तमाम टीम को बधाई दी है।

उपायुक्त मुकुल कुमार ने विशेष बातचीत करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने किसानों को फसलों का भुगतान व मुआवजा आदि अन्य लाभ देने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल को तैयार किया। इस पोर्टल पर किसानों को उनकी फसलों का पंजीकरण करवाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आदेशानुसार कुरुक्षेेत्र जिला में हर गांव में शिविर लगाकर और सूचना जन संपर्क विभाग के कलाकारों सहित अन्य माध्यमों से किसानों को पोर्टल पर फसलों का पंजीकरण करवाने के प्रति जागरूरक किया गया। इसके सार्थक परिणाम सामने आएं है।

कुरुक्षेत्र जिला में कुल कृषि योग्य 356730 एकड़ एरिया है। इसमें से 310944 एकड़ क्षेत्र का मेरी फसल मेरा ब्यौरा पर पंजीकरण किया जा चुका है। इस पोर्टल पर धान की फसल के लिए 45573 किसानों से 285964 एकड़ के लिए अपना पंजीकरण करवाया है। इसी तरह बासमती के लिए 580 किसानों ने 1453 एकड़ जमीन, मक्का फसल के लिए 323 किसानों ने 408 एकड़ जमीन, गन्ने के लिए 5767 किसानों ने 19774 एकड़ जमीन, चारा व अन्य फसल के लिए 3951 किसानों ने 3345 एकड़ जमीन का पंजीकरण करवाया है। डीसी ने कहा कि इस प्रकार कुरुक्षेत्र में 56194 किसानों ने 310944 एकड़ जमीन पर लगने वाली फसलों का पंजीकरण करवा कर हरियाणा प्रदेश में प्रथम स्थान हासिल किया है। इस जिला में पोर्टल पर पंजीकरण करने का 87 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है। उन्होंने कृषि विभाग के उप निदेशक डा. प्रदीप मील के साथ पूरी टीम को बधाई देते हुए कहा कि पोर्टल के बाकी बचे कार्य को भी जल्द से जल्द पूरा किया जाए ताकि किसानों को राज्य सरकार की तमाम योजनाओं का फायदा पोर्टल के माध्यम से मिल पाए।


Next Story