Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Kurukshetra University : दूरवर्ती पाठ्यक्रमों व प्राइवेट विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षाओं की डेटशीट जारी

यूनिवर्सिटी ने यूजी, पीजी प्रथम व द्वितीय वर्ष की परीक्षाएं 10 अगस्त से कराने का लिया गया निर्णय, वार्षिक परीक्षाएं ऑनलाइन होगी या ऑफलाइन अभी फैसला नहीं लिया गया है।

Kurukshetra University : दूरवर्ती पाठ्यक्रमों व प्राइवेट विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षाओं की डेटशीट जारी
X

हरिभूमि न्यूज. कुरुक्षेत्र

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ. हुकम सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने परीक्षा स्टैंडिंग कमेटी की सिफारिशों के आधार पर सोमवार को संबंधित दूरवर्ती पाठ्यक्रमों व प्राइवेट विद्यार्थियों के लिए यूजी व पीजी (वार्षिक परीक्षाएं) की डेटशीट जारी कर दी गई।

कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने कहा कि छात्र हितों को मद्देनजर रखते हुए परीक्षा संबंधित सभी समस्याओं का संज्ञान लेते हुए कुवि प्रशासन ने स्नातक प्रथम व द्वितीय वर्ष/स्नातकोत्तर प्रथम व द्वितीय वर्ष की वार्षिक परीक्षाएं 10 अगस्त से आयोजित करने का निर्णय लिया है। इस बारे जानकारी देते हुए परीक्षा नियंत्रक डॉ. हुकम सिंह ने बताया कि दूरवर्ती शिक्षा निदेशालय व प्राइवेट विद्यार्थियों के लिए यूजी प्रथम व द्वितीय वर्ष, पीजी प्रथम व द्वितीय वर्ष की परीक्षाएं 10 अगस्त से शुरू होंगी। इन सभी परीक्षाओं की डेटशीट विश्वविद्यालय की वैबसाइट पर भी उपलब्ध करा दी गई है। 10 अगस्त से शुरू होने वाली इन परीक्षाओं में बी.ए./बीएससी प्रथम वर्ष, बी.ए./बी.एससी द्वितीय वर्ष, बी.कॉम प्रथम व द्वितीय वर्ष, बीसीए प्रथम व द्वितीय वर्ष, एम.ए. प्रथम, एम.ए. द्वितीय वर्ष, एम.कॉम प्रथम व द्वितीय वर्ष, एम.एस.सी. मैथेमैटिक्स प्रथम व द्वितीय वर्ष, एम.एस.सी. ज्योग्राफी प्रथम व द्वितीय वर्ष, एल.एल.एम. प्रथम व द्वितीय वर्ष, बी.लाइब्रेरी साइंस, एम.लाइब्रेरी साइंस, डी.लाइब्रेरी साइंस, एम.बी.ए. पार्ट-1 व पार्ट-2, एम.बी.ए. (हॉस्पिटैलिटी मैनेजमैंट) पार्ट-1 व पार्ट-2, एम.ए. योगा द्वितीय सेमेस्टर शामिल हैं।

डॉ. सिंह ने बताया कि दूरवर्ती पाठ्यक्रमों व प्राइवेट पाठ्यक्रमों की जो डेटशीट जारी की गई है, उस परीक्षा में इम्प्रूवमैंट व एडिशनल के विद्यार्थी भी शामिल होंगे। वे भी इन परीक्षाओं में अपीयर हो सकेंगे जिन्होंने पिछले वर्ष अप्रैल/मई 2020 सत्र की परीक्षाओं के लिए आवेदन किया था लेकिन पिछले सत्र इम्प्रूवमैंट व एडिशनल की परीक्षाएं संपन्न नहीं हो सकीं। उन्होंने बताया कि उक्त परीक्षाओं के लिए परीक्षा मोड के लिए एक सप्ताह पूर्व कोराना महामारी को लेकर हिदायतों को देखते हुए फैसला लिया जाएगा कि ये वार्षिक परीक्षाएं ऑनलाईन होगी या ऑफलाइन।

Next Story