Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

50 करोड़ में चकाचक होगी कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस वे, नहीं महसूस होंगे झटके

डिवाइडर पर ब्लैक व वाइट पट्टी की जा रही है, ताकि सर्दियों (Winter) में पड़ने वाले कोहरे में दुर्घटनाओं पर अंकुश लग सके। यहां रात के समय रहने वाले अंधेरे को भी दूर किया जा रहा है। कुंडली से बहादुरगढ़ के बीच कुछ भाग को छोड़कर लाइटें जलने लगी हैं।

50 करोड़ में चकाचक होगी कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस वे, नहीं महसूस होंगे झटके
X

बहादुरगढ़। नवंबर तक ऐसे चकाचक होगा कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेस-वे।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़। पंद्रह दिन बाद यदि आप कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे पर सफर करेंगे तो आपको पहले लगने वाले झटके (Tremors) महसूस नहीं होंगे। जी हां, केएमपर पर सफर को सुगम बनाने के लिए हरियाणा स्टेट इंडस्ट्रियल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कारपोरेशन की देखरेख में टोल कंपनी द्वारा मरम्मत कार्य करवाया जा रहा है। करीब 50 करोड़ रुपए की लागत से मरम्मत के अलावा सौंदर्यकरण (Beautification) का काम करवाया जा रहा है। इसके करीब दो सप्ताह में पूरा होने की संभावना है।

जी हां, एचएसआईआईडीसी की देखरेख में टोल कंपनी द्वारा केएमपी एक्सप्रेस-वे की सड़क पर लगने वाले झटकों को दूर करने के लिए मरम्मत के साथ ग्रीन बेल्ट व टोल प्लाजा का सौंदर्र्यकरण, टूटी रेलिंग की मरम्मत व लाइट की पर्याप्त व्यवस्था करने का कार्य किया जा रहा है। अधिकारियों की मानें तो सड़कों की मरम्मत के साथ उन्हें बेहतर भी बनाया जा रहा है।

डिवाइडर पर ब्लैक व वाइट पट्टी की जा रही है, ताकि सर्दियों में पड़ने वाले कोहरे में दुर्घटनाओं पर अंकुश लग सके। यहां रात के समय रहने वाले अंधेरे को भी दूर किया जा रहा है। कुंडली से बहादुरगढ़ के बीच कुछ भाग को छोड़कर लाइटें जलने लगी हैं। यहां भी लाइटों को चालू करने की प्रक्रिया जारी है। उम्मीद है कि नवंबर तक एक्सप्रेस-वे का कायापलट कर दिया जाएगा। अगले दो सप्ताह में लाइट लगाने के साथ ही सड़क को भी बेहतर कर दिया जाएगा। अभी सभी टोल प्लाजा के सौंदर्यकरण के साथ ग्रीन बेल्ट को भी हरा-भरा किया जा रहा है।

एक्सप्रेस-वे पर सुधारीकरण व सौंदर्र्यकरण तेजी से किया जा रहा है। नवंबर तक सभी कार्य पूरा होने की उम्मीद है। इसके बाद सफर के दौरान केएमपी पर झटके नहीं लगेंगे और सड़क को चकाचक बनाया जा रहा है। - सुरेंद्र देशवाल, सीनियर मैनेजर, एचएसआईआईडीसी



Next Story