Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जजपा को झटका : करनाल के जिलाध्यक्ष इंद्रजीत ने दिया इस्तीफा, बोले- मैं किसानों के साथ

इंद्रजीत गोराया ने कहा कि दुष्यंत चौटाला से कई बार अनुरोध किया कि चौ. देवीलाल को आदर्श मानकर राजनीति में आए हो, इसलिए आप सख्त स्टैंड लेकर कृषि कानूनों को रद्द करवाने में सक्रिया भूमिका निभाएं। लेकिन वे ऐसा नहीं कर रहे।

जजपा को झटका :  करनाल के जिलाध्यक्ष इंद्रजीत ने दिया इस्तीफा, बोले- मैं किसानों के साथ
X

अपना इस्तीफा दिखाते इंद्रजीत सिंह गोराया।

हरिभूमि न्यूज : करनाल

केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में जेजेपी के जिलाध्यक्ष इंद्रजीत सिंह गोराया ने पार्टी को अलविदा कह दिया है। करनाल के एक निजी होटल में जननायक जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष इंद्रजीत सिंह गोराया ने प्रेस वार्ता कर किसानों के समर्थन में इस्तीफा देने की घोषणा कर दी। जिससे पार्टी को बड़ा झटका लगा है। प्रेस वार्ता में इंद्रजीत सिंह गोराया ने बताया कि तीनों कृषि कानून केंद्र सरकार लेकर आई है, लेकिन हरियाणा प्रदेश में जेजेपी, बीजेपी के साथ मिलकर सरकार चला रही है।

जिस कारण हरियाणा में पार्टी खासतौर से उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का भारी विरोध हो रहा है। इंद्रजीत गोराया ने कहा कि व्यक्तिगत तौर पर दुष्यंत चौटाला से कई बार अनुरोध किया कि चौ. देवीलाल को आदर्श मानकर राजनीति में आए हो, इसलिए आपका कर्तव्य बनता है कि आप सख्त स्टैंड लेकर कृषि कानूनों को रद्द करवाने में सक्रिया भूमिका निभाए। लेकिन उपमुख्यमंत्री ऐसा नहीं कर रहे। इन हालातों में पार्टी के साथ आगे नहीं बड़ा जा सकता। किसानों के खिलाफ बनाए कानूनों का साथ देने वालों का साथ कभी नहीं दिया जा सकता। इसलिए पार्टी के करनाल जिलाध्यक्ष पद के साथ-साथ पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी त्यागपत्र दे दिया। पार्टी छोड़ते समय उन्होंने अपने समर्थकों से कहा कि वे समाज में सरकार द्वारा फैलाई जा रही कटूता को कम करने के लिए एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में कार्य करता रहूंगा ताकि देश-प्रदेश में भाईचारे की भावना को बल मिल सके।



Next Story