Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जाखल नगरपालिका अध्यक्ष की कुर्सी का फैसला 23 फरवरी को, अविश्वास प्रस्ताव को लेकर प्रशासन अलर्ट

पहले भी बागी पार्षदों द्वारा दो बार अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। पहले अविश्वास प्रस्ताव में अध्यक्ष को पंजाब एंड हरियाणा उच्च न्यायालय से राहत मिलने पर अध्यक्ष पद की कुर्सी बरकरार रही थी और उपाध्यक्ष की कुर्सी चली गई थी। विरोध यहां नहीं थमा, फि र से बागी पार्षदों द्वारा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया।

Municipal office
X

जाखल : नगरपालिका कार्यालय।

हरिभूमि न्यूज : फतेहाबाद (जाखल)

जाखल नगरपालिका अध्यक्ष के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर 23 फरवरी मंगलवार को वोटिंग होगी, जिसे लेकर प्रशासन भी पूरी तरह से सतर्क नजर आ रहा है। प्रशासन की तरफ से नपा कार्यालय से लेकर दोनों तरफ करीबन 100 मीटर की दूरी तक बेरिगेटिंग की जाएगी। अविश्वास प्रस्ताव के दिन किसी भी व्यक्ति को कार्यालय के आस पास जाने नहीं दिया जाएगा। शहर के कुल 13 में से 12 पार्षद अध्यक्ष के खिलाफ है। पहले 9 पार्षदों द्वारा विरोध जताया जा रहा था लेकिन अब 12 पार्षद ही अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आए है।

गौरतलब है कि पहले भी बागी पार्षदों द्वारा दो बार अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। पहले अविश्वास प्रस्ताव में अध्यक्ष को पंजाब एंड हरियाणा उच्च न्यायालय से राहत मिलने पर अध्यक्ष पद की कुर्सी बरकरार रही थी और उपाध्यक्ष की कुर्सी चली गई थी। विरोध यहां नहीं थमा, फिर से बागी पार्षदों द्वारा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया। इसके बाद प्रधान प्रतिनिधि ने नपा कार्यालय में पंखे से लटकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली थी। आत्महत्या से पूर्व प्रधान प्रतिनिधि द्वारा एक सुसाइड नोट भी छोड़ा गया था जिसमें कुछ पार्षदों व अन्य के नाम लिखे गए थे।

शहर का विकास कार्यों पर ब्रेक

पिछले लंबे समय से नपा अध्यक्ष व पार्षदों में उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसे लेकर पार्षदों द्वारा पुन: से अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। नपा अध्यक्ष व पार्षदों की आपसी खींचतानी का नतीजा शहर की आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। पार्षदों की खींचातानी के चलते नगर पालिका का बजट पास नहीं हो रहा है, जिस कारण शहर के अनेक विकास कार्य पूरी तरह से रुक गए है। हालात यहां तक हो गए है कि नपा द्वारा अब शहर की साफ -सफाई भी बंद हो चुकी है, जिससे जगह जगह पर कूड़े के ढेर लगे हुए है।

विधायक व सांसद का करेंगे जमकर विरोध : किसान संघर्ष समिति

अविश्वास प्रस्ताव को लेकर किसानों को मिली सूचना के अनुसार किसानों ने भी विधायक और सांसद का घेराव करने का मन बना लिया है। किसान संघर्ष समिति के प्रधान लाभ सिंह, उप प्रधान जग्गी महल, किसान बलकार सिंह, नसीब सिंह, बाबू सिंह तलवाड़ा, गुरतेज सिंह, जरनैल सरोय, नवजोत सिंह, सतनाम सिंह, जगसीर सिंह, रोमी सिंह सहित अन्य किसानों ने भी ऐलान किया है कि 23 फ रवरी को हल्का विधायक व सिरसा से सांसद जाखल नपा कार्यालय में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर अगर पहुंचती है तो उनको काले झंडों दिखाकर उनका विरोध किया जाएगा।

क्या कहते ड्यूटी मजिस्ट्रेट

ड्यूटी मजिस्ट्रेट एवं नायब तहसीलदार जाखल रामचन्द्र अहलावत ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव को लेकर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। अविश्वास प्रस्ताव के दिन से नगर पालिका कार्यालय के पास पूरी तरह से पुलिस चौकसी रहेगी। पार्षदों के अलावा किसी भी अन्य व्यक्ति को अंदर प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। जाखल थाना प्रभारी विक्रम सिंह का कहना है कि पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है। सुबह ही नगरपालिका कार्यालय के बाहर पुलिस कर्मचारियों की तैनाती कर दी जाएगी। पार्षदों को छोड़ किसी भी व्यक्ति को कार्यालय में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। टोहाना पुलिस उप अधीक्षक बिरम सिंह स्वयं भी मौजूद होंगे।

Next Story