Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पंचकूला में 270 करोड़ से बनेगा आईपीडी राष्ट्रीय आयुर्वेद योग और प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान, छात्रों को शिक्षा भी दी जाएगी

इस संस्थान में यूजी, पीजी और पीएचडी की डिग्री के लिए हर वर्ष 500 छात्रों को शिक्षा दी जाएगी और इसमें आयुर्वेदिक उपचार, शिक्षा और अनुसंधान पर भी कार्य किया जाएगा।

पंचकूला में 270 करोड़ से बनेगा आईपीडी राष्ट्रीय आयुर्वेद योग और प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान, छात्रों को शिक्षा भी दी जाएगी
X

अधिकारियों की बैठक लेते मंत्री अनिल विज। 

चंडीगढ़। हरियाणा के आयुष मंत्री अनिल विज ने कहा कि 270.54 करोड़ रूपये की लागत से पंचकूला में 250 बिस्तरों वाले आईपीडी राष्ट्रीय आयुर्वेद और योग व प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान की स्थापना की जाएगी जिसमें 100 आयुर्वेद और 150 प्राकृतिक चिकित्सा के बेड होंगे। इस संस्थान में यूजी, पीजी और पीएचडी की डिग्री के लिए हर वर्ष 500 छात्रों को शिक्षा दी जाएगी और इसमें आयुर्वेदिक उपचार, शिक्षा और अनुसंधान पर भी कार्य किया जाएगा। विज ने कहा कि यह आयुर्वेद संस्थान अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ( एम्स दिल्ली ) के समान पूरी तरह से केंद्र सरकार के स्वामित्व वाली और ऑपरेटिव संस्था होने की अपेक्षा रखता है।

आयुष मंत्री ने कहा कि श्री माता मनसा देवी श्राइन बोर्ड, पंचकूला की 19.87 एकड़ भूमि आयुष मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली को 27 अप्रैल 2017 को पट्टे पर प्रदान की गई थी लेकिन उस समय इसमें कुछ खसरा नम्बर रह गए थे जो गत दिवस 13 जनवरी, 2022 को पूर्ण हो गए हैं और अब आयुष मंत्रालय, भारत सरकार को 19.87 एकड़ जमीन लीज पर देने का कार्य पूर्ण हो गया है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान 270.54 करोड़ रूपये की लागत से बनकर तैयार होगा। जिसमें अस्पताल और कॉलेज भवन, स्नातक, स्नातकोत्तर और अंतर्राष्ट्रीय छात्रों के लिए छात्रावास, आवासीय भवन होंगे। इसी प्रकार, अतिथि गृह, निदेशक का गृह भवन, सभागार भवन और अस्पताल भवन के नीचे वाणिज्यिक परिसर और बेसमेंट भी होंगे। विज ने बताया कि वाप्कोस को इस परियोजना के लिए मैनेजमेंट कंसलटेंट नियुक्त किया गया है। वाप्कोस के अनुसार इस परियोजना का कांसेप्ट लेआउट प्लान, मास्टर लेआउट प्लान, विस्तृत परियोजना रिपोर्ट, अनुमानित लागत की रिपोर्ट तैयार कर ली गई है। इस परियोजना का कार्य भी आवंटित कर दिया गया है और परियोजना पर कार्य शुरू भी हो चुका है।

Next Story