Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छह साल बाद खुलासा : प्लॉट का लालच देकर बेटे ने दोस्त से करवा दी पिता की हत्या, सड़क हादसे में मौत मान रही थी पुलिस

छह साल पहले वेस्ट रामनगर के फूल सिंह की सड़क हादसे में मौत मानकर पुलिस ने की थी जांच, अवैध हथियार सहित पकड़े गए आरोपी ने बताया कि दोस्त के कहने पर उसके पिता की गाड़ी से टक्कर मारकर हत्या की थी।

छह साल बाद खुलासा : प्लॉट का लालच देकर बेटे ने दोस्त से करवा दी पिता की हत्या, सड़क हादसे में मौत मान रही थी पुलिस
X
प्रतीकात्मक तस्वीर। 

सोनीपत। शहर के श्याम नगर में छह साल पहले व्यक्ति की मौत सड़क हादसे में नहीं हुई थी, बल्कि साजिश के तहत उनकी हत्या की गई थी। घटना के छह साल बाद पुलिस ने आरोपी को अवैध हथियार के मामले में गिरफ्तार कर इस मामले से पर्दा उठाया है। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है। अब पुलिस व्यक्ति के बेटे की तलाश में जुट गई है। सीआईए-2 स्टाफ की टीम ने अवैध हथियार के साथ आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी की पहचान मूलरूप से दिल्ली के गांव लिवासपुर फिलहाल सेक्टर-23 निवासी ओमप्रकाश के रूप में हुई है। आरोपी ने बताया कि उसने 22 जून, 2015 को अपने साथी विक्रम के कहने पर उसके पिता फूल सिंह की कार से टक्कर मारकर हत्या की थी। उस समय फूल सिंह के भाई प्रेम सिंह ने भाई की हादसे में मौत की शिकायत दी थी। उन्होंने तब पुलिस को बताया था कि वह विकास नगर का रहने वाला है। उनका बड़ा भाई सुबह सैर को जाता था। जब वह ककरोई रोड पर पहुंचा था कार चालक ने उन्हें टक्कर मार दी थी। पुलिस ने मामले में सड़क हादसे में मौत का मुकदमा दर्ज किया था।

सीआईए-2 प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि ओमप्रकाश की गिरफ्तारी से हत्या के मामले से पर्दा उठ सका है। मामले में फूलसिंह के बेटे विक्रम सिंह को भी आरोपी बनाया गया है। बताया गया है कि वह बिजली निगम में कार्यरत है। आरोपी ने बताया है कि विक्रम ने उसे ककरोई रोड पर एक प्लाट में आधा हिस्सा देने का लालच दिया था। उसका अपने पिता से उसी प्लाट को लेकर विवाद था।

Next Story