Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

IG और DGP विवाद : डीजीपी मनोज यादव के खिलाफ एफआइआर दर्ज न करने के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर

सुनवाई के दौरान सरकार ने कहा कि यह याचिका अब निष्प्रभावी है, क्योंकि इस विवाद की प्रारंभिक जांच 28 मई को पूरी हो चूकी है। इस पर कोर्ट ने सरकार को कहा कि वो प्रारंभिक जांच रिपोर्ट अगली सुनवाई 1 जुलाई को कोर्ट में पेश करे।

IG और DGP विवाद : डीजीपी मनोज यादव के खिलाफ एफआइआर दर्ज न करने के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर
X

आईजी वाईपूर्ण कुमार और डीजीपी मनोज यादव।

अंबाला रेंज के महानिरीक्षक रहे व आइजी होमगार्ड वाई पूर्ण कुमार ने प्रदेश के पुलिस महानिदेशक मनोज यादव के खिलाफ एफआइआर दर्ज न करने के खिलाफ पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। शुक्रवार को हाई कोर्ट ने इस मामले में कोई आदेश पारित न करते हुए सुनवाई एक जुलाई तक स्थगित कर दी। सुनवाई के दौरान सरकार ने कहा कि यह याचिका अब निष्प्रभावी है, क्योंकि इस विवाद की प्रारंभिक जांच 28 मई को पूरी हो चूकी है। इस पर कोर्ट ने सरकार को कहा कि वो प्रारंभिक जांच रिपोर्ट अगली सुनवाई 1 जुलाई को कोर्ट में पेश करे।

वाई पूर्ण कुमार की याचिका में आरोप है कि उसने डीजीपी के खिलाफ अंबाला के पुलिस अधीक्षक लिखित शिकायत खुद जाकर दी थी । पूर्ण कुमार ने आरोप लगाया है कि अनुसूचित जाति वर्ग से होने के कारण उन्हें डीजीपी प्रताड़ित कर रहा है। इस लिए एससी एसटी एक्ट के तहत डीजीपी के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए। लेकिन अंबाला के पुलिस अधीक्षक ने बगैर मामला दर्ज किए मामले की प्रांरभिक जांच एक डीएसपी को सौंप दी जबकि नियमों के तहत एससी एसटी एक्ट के तहत दी गई शिकायत पर पहले एफआइआर दर्ज कर जांच होनी चाहिये।

गौरतलब है कि अंबाला रेंज के आइजी रहते हुए वाई पूर्ण कुमार तीन अगस्त 2020 को शहजादपुर ट्रैफिक थाने में शिवलिंग की स्थापना को लेकर हुए कार्यक्रम में गए थे। तब डीजीपी ने आइजी से जवाब तलब किया था। वाई पूर्ण कुमार का कहना है कि एक अन्य आईपीएस अभिषेक जोरवाल भी इस कार्यक्रम में गए थे, लेकिन उनसे जवाब तलब नहीं किया गया केवल उनको जातीय भावना के चलते निशाना बनाया जा रहा है।

Next Story