Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

परिवार पहचान पत्र नहीं तो पेंशन पर मंडरा सकता है संकट

रकार ने कहा है कि बिना पहचान पत्र के सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिलेगा। ऐसे में जो व्यक्ति सरकार से विभिन्न प्रकार की सामाजिक पेंशन ले रहे हैं।

सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए परिवार पहचान पत्र जरूरी
X

 परिवार पहचान पत्र 

अमरजीत एस गिल : रोहतक

परिवार पहचान पत्र बनाने का काम शुरू हुए सवा साल के करीब हो चुका है। लेकिन अभी तक यह कार्य पूरा नहीं हुआ है। प्रत्येक परिवार अपना पहचान पत्र बनवाए, इसके लिए सरकार ने कहा है कि बिना पहचान पत्र के सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिलेगा। ऐसे में जो व्यक्ति सरकार से विभिन्न प्रकार की सामाजिक पेंशन ले रहे हैं।

वे अपने परिवार पहचान पत्र अवश्य बनवा लें। हो सकता है कभी आपकी पेंशन को लेकर किंतु-परंतु लग जाए। क्योंकि सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए परिवार पहचान पत्र बनवाना अनिवार्य कर चुकी है। जिले में एक लाख 22 हजार 383 लाभार्थी प्राप्त कर रहे है। इनमें बुढ़ापा पेंशन 69359 काे, दिव्यांग 7328 को, विधवा पेंशन 33688 को, निराश्रित 8985 बच्चों को, लाडली 2463 को, 18 वर्ष से कम आयु के स्कूल न जाने वाले दिव्यांग 552 बच्चों को पेंशन दी जा रही है। समाज कल्याण विभाग का कहना है कि गत दिनों से पहचान पत्र बनवाने में लाभार्थियों ने काफी रूचि दिखाई है। अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय के मुताबिक जिले में 281596 परिवार हैं। इनमें से 185976 का पहचान पत्र बनवाने का डाटा अपडेट हो चुका है। डाटा अपडेट करने में रोहतक का प्रदेश में 10वां स्थान बताया जा रहा है।

दस्तावेज जमा करवाने की नहीं जरूरत

अगर आपने पहचान पत्र बनवा लिया है तो इसके कागजात समाज कल्याण विभाग में जमा करवाने की जरूरत नहीं है। क्योंकि आपका पहचान पत्र बनते ही ऑनलाइन इसकी जानकारी समाज कल्याण विभाग में पहुंच जाती है। पिछले दिनों बैंक प्रबंधनों ने लाभार्थियों को कहा था कि वे पहचान पत्र बनवाकर इसके दस्तावेज समाज कल्याण विभाग में जमा करवाएं। ताकि विभाग इनको आपकी पेंशन से जोड़ सके। समाज कल्याण विभाग के पास लाभार्थी पहचान पत्र के दस्तावेज लेकर पहुंचे हैं। लेकिन विभाग ने लाभार्थियों को अवगत करवाया कि दस्तावेज जमा करवाने की जरूरत नहीं है। बल्कि परिवार की यूनिक आईडी से अपने पेंशन की आईडी जुड़ जाती है।

सरकारी कर्मचारियों के लिए अनिवार्य

सभी सरकारी अधिकारी और कर्मचारियों के लिए परिवार पहचान पत्र बनवाना अब अनिवार्य कर दिया गया है। किसी भी कर्मचारी चाहे वो छोटी पोस्ट में हो या बड़ी, परिवार पहचान पत्र नहीं है तो उसका वेतन रोकने की बात सरकार द्वारा कही जा रही है। सरकार के सभी विभागों में ही पहचान पत्र बनवाने का काम करवाया जा रहा है। कुल मिलाकर सरकार द्वारा चलाई जा रही हैं किसी भी योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए ये परिवार पहचान पत्र महत्वपूर्ण होंगे। क्योकि इसमें सभी परिवारों के प्रमाणित एवं सत्यापित डेटा बेस होगा। जिसे सभी लाभकारी योजनाओं के साथ जोड़ा जाएगा।

ऐसे जानें परिवार पहचान पत्र के बारे में

परिवार पहचान पत्र 14 डिजिट का है। हर किसी परिवार का यूनिक नंबर होगा। इसमें मोबाइल नंबर भी अपडेट किया जाएगा। कार्ड में रजिस्ट्रेशन होने के बाद परिवार को स्मार्ट कार्ड दिया जाएगा। जिसमें परिवार के मुखिया का नाम सबसे उपर होगा, बाकियों की जानकारी नीचे दर्ज होगी। पंजीकरण के समय आवेदक को एक रजिस्ट्रेशन आईडी और पासवर्ड दिया जायेगा। सरकार द्वारा शुरू किये गए परिवार पहचान पत्र हरियाणा पोर्टल में जाकर, आवेदक को अपना आईडी पासवर्ड डालना होगा। जो सिर्फ उस परिवार के पास ही होगा। लॉग इन करने के बाद उसे आपके परिवार की पूरी जानकारी स्क्रीन पर दिखाई देगी। इस जानकारी को समय-समय पर अपडेट करवाने का भी प्रावधान सरकार ने किया है। वर्ष 2011 से जिले में परिवारों का डाटा अपडेट करने का कार्य जारी है। सोमवार तक करीब 66 प्रतिशत परिवार का डाटा अपडेट किया जा चुका है।

कुछ नहीं कह सकते

जितने भी लाभार्थी सामाजिक पेंशन ले रहे हैं। उनके लिए परिवार पहचान पत्र सरकार ने अनिवार्य कर दिया है। इसके बिना पेंशन मिलेगी या नहीं, इस बारे में फिलहाल कुछ नहीं कहा जा सकता है। लाभार्थी परिवार पहचान पत्र बनवाने में काफी रूचि ले रहे हैं। -राजेश मलिक, सहायक समाज कल्याण अधिकारी रोहतक

Next Story