Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पति की बेवफाई लील गई महिला और दो बेटियों की जिंदगी

प्राथमिक जांच में सामने आया है कि पति के अवैध संबंध के कारण आत्महत्या जैसा कदम उठाया गया है। आरोपित पति को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पति की बेवफाई लील गई महिला और दो बेटियों की जिंदगी
X

सोनिया और उसकी बेटी का फाइल फोटो

हरिभूूमि न्यूज:रोहतक

गांव बोहर में एक महिला ने रविवार को अपनी 16 और 12 साल की दो बेटियों समेत जहर खाकर जान दे दी। पुलिस ने मृतक महिला के पिता की शिकायत पर उसके पति समेत दूसरी महिला पर केस दर्ज किया है। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि पति के अवैध संबंध के कारण आत्महत्या जैसा कदम उठाया गया है।

आरोपित पति को गिरफ्तार कर लिया गया है। महिला का पति राजेश शुगर मिल में कार्यरत है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए पीजीआई भेज दिया गया है। सोमवार को पोटस्मार्टम करवाया जाएगा। रिपोर्ट में ही यह बात साफ हो पाएगी कि किस जहर के सेवन से तीनों की मौत हुई है। एक साथ हुई तीन मौतों से गांव में मातम पसरा हुआ है।

40 वर्षीय सोनिया अपने पति राजेश कुमार, बेटी दिया और रिया के साथ गांव में रहती थी। 12 साल की दिया 8वीं और 16 साल की रिया 10वीं कक्षा में पढ़ती थी। उसका पति राजेश कुमार शुगर मिल में नौकरी करता है। कुछ दिन पहले उसका बेटा मामा के घर गया था। रविवार दोपहर करीब एक बजे सोनिया ने अपनी दोनों बेटियों को जहरीला पदार्थ खिलाया और खुद भी जहर निगल लिया। कुछ देर बाद ही उनकी तबीयत बिगड़ने लगी और तीनों उल्टी करने लगी। इसका पता लगते ही राजेश के ताऊ का लड़का तीनों को एक प्राइवेट अस्पताल में लेकर गया। जहां तीनों ने दम तोड़ दिया। घटना की सूचना मिलने पर अर्बन एस्टेट के थाना प्रभारी बिजेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे और छानबीन शुरू कर दी।

बेटी ने बताया था राजेश का चरित्र सही नहीं

पुलिस को शिकायत में झज्जर के भापड़ौदा निवासी देवेंद्र सिंह ने बताया कि उसके पास दो बेटे और एक बेटी है। सबसे छोटे बेटे मंजीत की मौत हो चुकी है। बेटी सोनिया की शादी राजेश निवासी बोहर के साथ करीब 18 साल पहले की थी। सोनिया को पास बड़ी लड़की रिया, छोटी लड़की दीया और सबसे छोटा बेटा मयंक है। आरोप है कि शादी के कुछ समय बाद ही उसकी बेटी ने उनको बताया था कि राजेश का चरित्र सही नहीं है। उसके पास ही की एक कॉलोनी में रहने वाली महिला के साथ अवैध सम्बंध हैं। यह महिला एक निजी स्कूल में पढ़ाती है और एक एकेडमी भी चलाती है। महिला भी राजेश के साथ मिलकर उनके मकान पर आकर मारपीट करती है। कई बार राजेश को समझाया गया लेकिन वह नहीं माना। कई दिन पहले भी सोनिया ने उनको फोन कर बताया कि वह उन्हें बार-बार प्रताडि़त करता है। इसके बाद रविवार दोपहर उन्हेंं सूचना मिली कि सोनिया और दोनों बेटियों की जहर के सेवन के चलते मौत हो गई है। पुलिस ने राजेश और उक्त उक्त महिला पर पर केस दर्ज कर राजेश को गिरफ्तार कर लिया है। शवों का पोस्टमार्टम नहीं हो सका है।

बेटे की बच गई जान

घटना के समय राजेश का बेटा सात साल का मयंक अपने मामा के पास भापदौड़ा में गया हुआ था। अगर वह यहां मकान पर होता तो उसके साथ भी बड़ा हादसा हो सकता था। वह दोनों बहनों से छोटा है।

Next Story