Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राज्य के 75 फीसदी युवाओं को कैसे दिया जाए रोजगार, सीएम ने उद्योगपतियों से मांगे सुझाव

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि नीति को उद्योग के अनुकूल बनाया जाएगा, यदि आवश्यक होगा तो संशोधन के लिए सरकार तैयार है।

राज्य के 75 फीसदी युवाओं को कैसे दिया जाए रोजगार, सीएम ने उद्योगपतियों से मांगे सुझाव
X

सीएम मनोहर लाल और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य सरकार स्थानीय युवाओं को रोजगार देने के साथ-साथ हर युवा की शिक्षा और कौशल विकास सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री कल देर सायं औद्योगिक संघों, उद्यमियों और अन्य हितधारकों के साथ बैठक कर रहे थे। बैठक में उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला एवं श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री अनूप धानक भी उपस्थित थे। मनोहर लाल ने कहा कि औद्योगिक संगठन राज्य के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और आज कई महत्वपूर्ण एवं मूल्यवान सुझाव हितधारकों द्वारा दिए गए हैं। इन सुझावों को निश्चित रूप से पॉलिसी तैयार करते समय शामिल किया जाएगा। यदि आवश्यक होगा तो नीति में संशोधन किया जाएगा ताकि नीति उद्योग के अनुकूल बन सके।

उन्होंने कहा कि इस बैठक का मुख्य उद्देश्य राज्य सरकार द्वारा स्थानीय उम्मीदवारों को नौकरियों में 75 प्रतिशत आरक्षण देने की नई नीति के लिए नियमावली तैयार करने से पूर्व औद्योगिक संघों, उद्यमियों और अन्य हितधारकों से सुझाव आमंत्रित करना है। मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि हरियाणा में किसी भी औद्योगिक इकाइयों को किसी भी तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। इसके लिए यह सुनिश्चित करने के समर्पित प्रयास किए जाएंगे कि कुशल स्थानीय युवाओं को उद्योगों की जरूरतों और मांगों के अनुसार ओद्योगिक इकाइयों में रोजगार दिया जाएगा। इससे पूर्व, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सभी से सुझावों को आमंत्रित करने का मूल उद्देश्य स्थानीय उम्मीदवारों को अधिक से अधिक रोजगार और राज्य में अधिकतम औद्योगिक निवेश सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार राज्य की बेहतरी सुनिश्चित करने के लिए औद्योगिक संघ और चैंबर्स के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा में पिछले कुछ वर्षों में औद्योगिक क्षेत्र के विकास के मामले में बहुत प्रगति हुई है। इसलिए, राज्य सरकार समय-समय पर हरियाणा में औद्योगिक औद्योगिक पारिस्थितिकी तंत्र की समीक्षा के लिए उद्यमियों व अन्य हितधारकों से परामर्श व सुझाव लेती रहती है।



Next Story