Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कानून व्यवस्था में ढील पर नवदीप विर्क को भारी पड़ी गृहमंत्री विज की नाराजगी, परिवहन विभाग में भेजे

कुछ वक्त पहले लंबे अवकाश पर गए एडीजीपी विर्क के कामकाज को लेकर गृहमंत्री विज संतुष्ट नहीं थे। राज्य में कानून व्यवस्था और कुछ अर्सा पहले हुई बड़ी घटनाओं का हवाला देते हुए गृह मंत्री विज ने स्पष्टीकरण भी मांग लिया था।

कानून व्यवस्था में ढील पर नवदीप विर्क को भारी पड़ी गृहमंत्री विज की नाराजगी, परिवहन विभाग में भेजे
X

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क 

चंडीगढ़। आखिरकार हरियाणा पुलिस में लंबे वक्त से बतौर एडीजीपी कानून व्यवस्था जिम्मेदारी संभाल रहे वरिष्ठ आईपीएस अफसर नवदीप विर्क को प्रदेश के गृहमंत्री अनिल विज की नाराजगी भारी पड़ गई है। कुछ वक्त पहले लंबे अवकाश पर गए एडीजीपी विर्क के कामकाज को लेकर गृहमंत्री विज संतुष्ट नहीं थे। राज्य में कानून व्यवस्था और कुछ अर्सा पहले हुई बड़ी घटनाओं का हवाला देते हुए गृह मंत्री विज ने स्पष्टीकरण भी मांग लिया था।

सूत्रों का कहना है कि विज की नाराजगी और राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर मांगे गए स्पष्टीकरण के बाद में एडीजीपी नवदीप विर्क पुलिस मुख्यालय से लंबी छुट्टी चले गए थे। सूत्र बताते हैं कि गत दिवस अनिल विज द्वारा गृह विभाग की वीसी के जरिये हुई बैठक में राज्य की कानून व्यवस्था, कुछ जिलों में हुई घटनाओं को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। बताते हैं कि अनिल विज ने इस बैठक के दौरान तल्खी दिखाते हुए साफ कर दिया था कि अहम पदों पर बैठकर जवाबदेही से बचने वालों से उन्हें जवाब लेना आता है। कुल मिलाकर गृहमंत्री की नाराजगी और पिछले कुछ वक्त के दौरान हुई बड़ी घटनाओं को लेकर स्पष्टीकरण मांग लिए जाने के बाद में यह तह हो गया था कि विर्क को विज की नाराजगी भारी पड़ेगी।

कुल मिलाकर सीएम की गुड बुक में शामिल विर्क को आखिरकार शुक्रवार को एडीजीपी कानून व्यवस्था पद से हटना पड़ गया है। सूत्र बताते हैं कि गृह मंत्री अनिल विज ने राज्य की कानून व्यवस्था और पिछले घटनाक्रम का जिक्र करते हुए विर्क से सभी प्रभार वापस लेकर उनको सरदार एएस चावला को दी गई जिम्मेदारी देने के लिए लिख दिया गया था। गृहमंत्री द्वारा लिख दिए जाने के बाद में बने हालात को लेकर मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने उन्हें पुलिस महकमें से हटाकर आईएएस वाली पोस्ट हरियाणा राज्य परिवहन विभाग में बतौर प्रमुख सचिव तैनात कर दिया है। अब से पहले इस पद पर उनकी पत्नी आईपीएस कला रामचंद्रन की तैनाती की गई थी। काडर की पोस्ट पर आईपीएस अफसरों की तैनाती को लेकर राज्य की आईएएस लाबी नाराजगी जाहिर कर चुकी है, इतना ही नहीं प्रदेश के चर्चित अफसर अशोक खेमका इस तरह की तैनाती को लेकर नियमों का हवाला देते हुए मुख्य सचिव हरियाणा के माध्यम से प्रदेश के सीएम को पत्र भी लिख चुके थे।

विर्क की पत्नी कला रामचंद्रन लंबे समय तक प्रदेश के बाहर केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर लंबे वक्त तक रहीं हैं। कुछ साल पहले ही उनकी पत्नी 1994 बैच आईपीएस अधिकारी कला रामचंद्रन को राज्य के परिवहन विभाग में बतौर प्रधान सचिव पद पर लगाया गया था। उसके पहले तक वे हरियाणा पुलिस मुख्यालय पंचकूला बैठतीं रहीं थी। फिलहाल कला रामचंद्रन के पास में एक जिम्मेदारी विजिलेंस वाली रहेगी। उनके पास में पहले परिवहन और विजिलेंस दो प्रभार थे। यहां पर यह भी बता दें कि कला रामचंद्रन से पहले परिवहन विभाग प्रधान सचिव की जिम्मेदारी आईपीएस अधिकारी शत्रुजीत कपूर के पास थी। उनको सरकार ने विजिलेंस ब्यूरो का चीफ बना दिया है। भले ही विर्क ने विभाग छोड़ दिया है लेकिन सूत्र बताते हैं कि गृहमंत्री द्वारा मांगे गया स्पष्टीकऱण तो उनको भेजना ही होगा, जिसके बाद में गृहमंत्री विज का संतुष्ट होना अथवा नहीं होना उन पर ही निर्भर करेगा।

Next Story