Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जीएसटी चोरी के मामले को गृहमंत्री विज ने लिया संज्ञान, डीजीपी को कार्रवाई का आदेश

जीएसटी चोरी के मामले (GST theft cases) में कुछ जिलों में 70 से ऊपर एफआईआर (FIR) दर्ज हुई लेकिन ये दर्ज होने के बाद में मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया गया था। जिन जिलों में मोटा गोलमाल हुआ उनमें रेवाड़ी, फतेहाबाद, पानीपत कैथल आदि शामिल हैं।

अनिल विज
X

 हरियाणा के स्वास्थ्य, आयुष एवं गृहमंत्री अनिल विज

योगेंद्र शर्मा.चंडीगढ़

सूबे के गृहमंत्री अनिल विज (Home Minister Anil Vij) के संज्ञान में करोड़ों टैक्स चोरी का गंभीर मामला सामने आया है। जिसमें कुछ जिलों में सीएम (Chief Minister) के आदेश के बाद भी एफआईआर(FIR) दर्ज नहीं की गई। इसके अलावा कुछ जिलों में केस तो दर्ज किए गए लेकिन उन मामले में गिरफ्तारी नहीं हुई है। अब गृहमंत्री विज ने पूरे मामले के संज्ञान में आने के बाद में डीजीपी हरियाणा मनोज यादव को तुरंत एक्शन का आदेश जारी कर दिया है।

भरोसेमंद उच्चपदस्थ सूत्रों का कहना है कि राज्य में कईं फर्मों ने जीएसटी अदा करने के नाम पर फर्जीवाड़ा किया था। इस तरह के मामलों में शिकायत संज्ञान में आने के बाद में कुछ जिलों में 70 से ऊपर एफआईआर दर्ज हुई लेकिन ये दर्ज होने के बाद में मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया गया था। जिन जिलों में मोटा गोलमाल हुआ उनमें रेवाड़ी, फतेहाबाद, पानीपत कैथल आदि शामिल हैं।

इसके अलावा पूरे मामले में शिकायत हरियाणा के सीएम तक पहुंची। सीएम ने भी गंभीर मामले में तुरंत एफआईआर दर्ज करने का आदेश जारी कर दिया, लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि सीएम के आदेशों को कुछ जिला पुलिस अफसरों ने ताक पर रख दिया। केस दर्ज नहीं किए दूसरी तरफ जिन जिलों में केस दर्ज कर लिए गए वहां पर कार्रवाई नहीं की गई। अब कईं बरसों से लंबित मामलों को कुछ लोगों ने करोड़ों की टैक्स चोरी का पोथा सूबे के गृहमंत्री अनिल विज के सामने रख दिया है। जिसके बाद में गंभीर विज ने खुद डीजीपी को मामले को गंभीरता से लेने साथ ही तुरंत ही एक्शन लेने का आदेश जारी कर दिया है।

कार्रवाई का आदेश दिया

पूरे मामले में हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से जब पूछा गया,. तो उन्होंने कहा कि पूरा मामला उनके संज्ञान में आया है। उन्होंने 70 से ज्यादा एफआईआर दर्ज किए जाने व कार्रवाई के नाम पर लीपापोती को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि पूरे मामले को दिखवाया जा रहा है। हमने इसमें दोषियों के विरुद्ध सख्त एक्शन का आदेश जारी कर दिया है।

गृहमंत्री के पास मामला पहुंचने से हड़कंप

शराब तस्करी मामले में एसईटी बनाकर शिकंजा कसने और कबूतरबाजों के विरुद्ध चल रही मुहिम के बाद में अब करोड़ों के टैक्स चोरी करने वाले मामले के सामने आते ही विज ने इस मामले को लेकर एक बार फिर से शिकंजा कसने का आदेश पुलिस अफसरों को कर दिया है। इसकी भनक लगते ही मामले में शामिल लोगों में हड़कंप मचा हुआ है। आने वाले दिनों में इन लोगों पर शिकंजा कसने की रणनीति बननी तैयार हो गई है।

फतेहाबाद जिला बड़ा केंद्र

फर्जी फर्मे बनाकर जीएसटी का गोलमाल तरीके से रिफंड लेने के गंभीर मामले फतेहाबाद में जमकर मामले सामने आए थे। फतेहाबाद शहर भट्टूकला में ज्यादा मामले हुए हैं। दर्जनभर से ज्यादा केस दर्ज किए गए लेकिन कार्रवाई ढ़ीली ही रही। बाकी जिलों में भी इसी तरह के केस हुए लेकिन ठोस कार्रवाई नहीं हो सकी थी।

Next Story