Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हाईकोर्ट की फुल बेंच करेगी राम रहीम के मामलों की सुनवाई

पंजाब के रूपनगर निवासी बलविंद्र देवी व अन्य ने हाईकोर्ट में दायर याचिका में आरोप लगाया कि डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह को दुष्कर्म और हत्या के मामलों में जेल में रखने के पीछे साजिश है।

प्रॉपर्टी डीलर की एक साल पहले की थी हत्या, अब कोर्ट ने सात लोगों को सुनायी उम्रकैद की सजा
X

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह हत्या व दुष्कर्म के केस में जेल में बंद है। इस मामले की जांच को लेकर दायर एक जनहित याचिका पर अब पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की फुल बेंच सुनवाई करेगी। शुक्रवार को यह मामला चीफ जस्टिस की बेंच के सामने सुनवाई के लिए आया तो बेंच ने कहा राम रहीम मामले से जुड़ी कई जनहित याचिका अभी हाईकोर्ट की फुल बेंच के सामने विचाराधीन है,ऐसे में यह याचिका भी फुल बेंच को रेफर की जाती है।

इस मामले में दायर याचिका में कहा गया कि जिन संतों ने धार्मिक प्रचार से मानव को ईश्वर से जोडऩे का काम किया है, वह साजिश का शिकार होकर सत्ता द्वारा प्रताड़ित किए जाते रहे हैं। गुरमीत सिंह के साथ भी ऐसा हुआ है।

इस याचिका में डेरा सच्चा सौदा सिरसा के मैनेजमेंट, वकीलों व सीबीआइ के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। राम रहीम की अनुयायी पंजाब के रूपनगर निवासी बलविंद्र देवी व अन्य ने हाईकोर्ट में दायर याचिका में आरोप लगाया कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह को दुष्कर्म और हत्या के मामलों में जेल में रखने के पीछे साजिश है, जिसकी गहरी जड़ें हैं।

हाई कोर्ट को बताया गया कि इस साजिश में हरियाणा सरकार, सीबीआइ के कुछ अधिकारी, राम रहीम के वकील व डेरा प्रबंधन के लोग शामिल हैं, जिन्होंने मिलकर फर्जी गवाह व गलत तथ्य कोर्ट के सामने पेश कर राम रहीम को जेल में बंद करवाया व अनुयायियों की धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ किया। याचिका में केंद्र सरकार से अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई व बार काउंसिल आफ इंडिया से आरोपित वकीलों के खिलाफ कार्रवाई का आग्रह किया गया है।

Next Story